IAS सस्पेंड, FIR पहले हो चुकी है दर्ज : हनीमून से लौटकर आइसोलेशन के बजाय बंगले से गायब होने वाले IAS पर गिरी गाज…..केरल से लापता आईएएस यूपी में मिले, परिवार सहित होम आइसोलेशन पर भी भेजे गये….पत्नी संग विदेश से लौटे थे हनीमून मनाकर

कोल्लम(केरल) 27 मार्च 2020। केरल कैडर के IAS अनुपम मिश्रा को राज्य सरकार ने सस्पेंड कर दिया है। इससे पहले आईएएस अनुपम के खिलाफ राज्य सरकार ने FIR दर्ज करने का भी आदेश दिया था। अनुपम मिश्रा पर कोरोना को लेकर जारी गाइडलाइंस का उल्लंघन करने और बिना बताये राज्य छोड़कर फरार हो जाने का गंभीर आरोप है। अभी फिलहाल उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर में आईएएस अधिकारी अनुपम मिश्रा घर में आइसोलेट किया गया है। परिवार के अन्य 6 सदस्य भी घर में आइसोलेट किये गए हैं. अनुपम मिश्रा मलेशिया और सिंगापुर से लौटे हैं.यूपी के निराला नगर मोहल्ले के रहने वाले हैं और केरल कैडर के आईएएस हैं.

कोरोना : IAS पर FIR …. हनीमून मनाकर लौटे अफसर को आइसोलेशन में रहने का था निर्देश….चार दिन से IAS अफसर हैं लापता…अब हुआ FIR दर्ज, शोकॉज भी किया गया जारी….फरवरी में हुई थी शादी

मिश्रा, 2016 बैच के आईएएस अधिकारी हैं और हाल ही में केरल (Kerela) के कोल्लम में सब कलेक्टर की पोस्ट संभालने के लिए आए थे. उन्होंने अपने सीनियर्स को बताया कि वह विदेश में थे. तब उन्हें यहां से लगभग 70 किलोमीटर दूर कोल्लम स्थित सरकारी आवास में अलग-थलग रहने के लिए कहा गया था.कोल्लम के जिला कलेक्टर (DM) बी.अब्दुल नासर ने शुक्रवार को मीडिया को बताया कि मिश्रा ने स्पष्टीकरण दिया है कि जब उन्हें सेल्फ- क्‍वारंटीन में जाने के लिए कहा गया था, तब उन्होंने कहा था कि वह कानपुर स्थित अपने घर वापस जाना चाहते थे. नासर ने कहा, “यह प्रोटोकॉल (protocol) तोड़ने का केस है और मैं उनके बर्ताव के बारे में राज्य सरकार के सामने रिपोर्ट पेश करूंगा, आगे की कार्रवाई सरकार को करनी है.”

ऐसे खुला मामला

इधर 14 दिन के क्वारंटाइन में भेजे गए आईएएस के हालचाल जानने के लिए कुछ अधिकारियों ने उनके घर फोन किया तो पता चला कि वह घर पर नहीं थे। अधिकारियों ने फोन पर संपर्क किया तो अनुपम ने बताया कि वह अपने भाई के साथ बेंगलुरु आ गए थे क्योंकि वह एक डॉक्टर है और उनकी देखभाल वहां अच्छे से होगी।बताया जा रहा है कि जब अनुपम के मोबाइल पर संपर्क किया गया तो फोन संपर्क से बाहर होने का साउंड हिंदी में सुनाई दिया। शक होने पर अनुपम का मोबाइल ट्रैस किया गया तो उनकी लोकेशन कानपुर में मिली। इस मामले में डीएम ने राज्य सरकार को रिपोर्ट बनाकर भेजी है। डीएम की रिपोर्ट पर अनुपम मिश्रा से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

कोल्लम के जिला कलेक्टर बी अब्दुल नासर ने शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए बताया कि उनकी तरफ से स्पष्टीकरण दिया गया है कि जब उन्हें क्वारंटाइन रहने के लिए कहा गया था तो उन्होंने कानपुर अपने घर जाने की बात कही थी। नासर ने कहा कि यह प्रोटोकॉल का गंभीर उल्लंघन है और मैंने सरकार को एक रिपोर्ट सौंपी है। कोल्लम जिले के रहने वाले मंत्री जे मर्सीकुट्टी ने कहा है कि साफतौर पर यह सामाजिक प्रतिबद्धता को तोड़ने वाला मामला है। कई मंत्रियों ने उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।कोल्लम पुलिस अधीक्षक टी नारायणन ने पीटीआई-भाषा को बताया कि उत्तर प्रदेश के रहने वाले कोल्लम के उप जिलाधिकारी अनुपम मिश्रा के खिलाफ उल्लंघन के संबंध में स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त एक रिपोर्ट के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

 

Spread the love