डबडबायी आंखों और कांपते हाथों से पहले तीन घंटे 10वीं का पर्चा लिखा……फिर बेटियों ने घर लौटकर पिता की अर्थी को दिया कांधा…..सड़क दुर्घटना का शिकार हुए थे पिता ….नजारा देख हर किसी की छलक गयी आंखे

धमतरी 4 मार्च 2020। …परीक्षा देकर लौटी बिटिया ने जब बाप की अर्थी को कांधा दिया…तो मौजूद हर किसी की आंखे डबडबा गयी। पिता की मौत के बावूजद पहले बेटी परीक्षा देने पहुंची थी….भरी आंखों और कांपते हाथों से बिटिया ने तीन घंटे परीक्षा हाल में पर्चा लिखा और फिर घर लौटकर पिता की अर्थी को कांधा दिया। इस नजारे को जिस किसी ने देखा, उसकी आंखे छलक उठी और गला रूंध गया। 

दिल को छू लेने वाली ये घटना धमतरी के आमदी नगर पंचायत की है, जहां के कुमार साहू की मौत सड़क दुर्घटना में हो गयी। कुमार साहू का कोई बेटा नहीं था, सिर्फ तीन बेटियां थी। मौत के बाद बड़ी बेटी किरण को मुखाग्नि देनी थी, लेकिन किरण को 10वीं की बोर्ड परीक्षा देनी थी, बेटी के लिए धर्मसंकट ये था कि वो पिता का अंतिम संस्कार करे या फिर परीक्षा दे।

मानसिक द्ंवद के बीच आखिरकार किरण ने फैसला पहले परीक्षा देने का लिया। तीन घंटे की परीक्षा के बाद वो घर लौटी और फिर पिता के अर्थी को कांधा दिया। अर्थी लेकर शवदाह गृह पहुंची बेटियों ने पिता का अंतिम संस्कार किया। इस मार्मिक घटना के बाद पूरा गांव गम में डूबा रहा।

Spread the love