fbpx

क्वारनटाईन सेंटर में श्रमिक की मौत.. पुणे से लौटा था श्रमिक.. टेस्ट रिपोर्ट का इंतज़ार..सूबे के क्वारनटाईन सेंटरों में सातवीं मौत

NPG.NEWS
मुँगेली,23 मई 2020। पुणे से लौट कर क्वारनटाईन सेंटर में एक श्रमिक की मौत हो गई है। बीते दो दिनों से उसकी तबियत ख़राब थी। प्रशासन को उसके टेस्ट रिपोर्ट का इंतज़ार है। हालाँकि प्रशासनिक सूत्रों का दावा है कि उसमें कोविड के लक्षण नहीं उभरे थे।
NPG को मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत करही घ के सचिव ने तबियत बिगड़ने की सूचना दी थी। आरोप है कि तबियत जब बेहद बिगड़ी तब तंद्रा टूटी और उसे पंडारभट्ट के अस्पताल में जाँच के बाद वापस क्वारनटाईन किया गया। अगले दिन श्रमिक की तबियत और बिगड़ी और उसे तेज बुख़ार भी आया, उसे 108 से ले जाने की कोशिश की जा रही थी तभी उसकी मौत हो गई।
प्रदेश के क्वारनटाईन सेंटरों में मौत का यह सातवाँ मामला है। अब तक जो मौतें दर्ज हुई हैं उनका ब्यौरा निम्नलिखित है –
1-14 मई 2020: सारंगढ़ क्वारंटिन सेंटर-अर्जुन निषाद, 27 साल, फांसी से मौत.
2-17 मई 2020: किरना, मुंगेली क्वारंटिन सेंटर-पुणे से पैदल लौटे 31 साल के योगेश वर्मा की सांप काटने से मौत.
3-18 मई 2020: परसवानी क्वारंटिन सेंटर, बालोद-सूरज यादव,29 साल, फांसी से मौत.
4-18 मई 2020: सीताकसा क्वारंटिन सेंटर, राजनांदगांव-बुधारु राम, 28 साल, सांप काटने से मौत
5- 19 मई 2020: सेमली लेंजुवा पारा क्वारंटिन सेंटर, बलरामपुर-ड्यूटी कर रहे शिक्षक सियारत भगत की मौत
6- 20 मई 2020: सेमरिया क्वारंटिन सेंटर, बेमेतरा- राजू ध्रुव 35 साल की मौत.
छीतापुर के क्वारनटाईन सेंटर में श्रमिक की इस मौत के मामले में प्रशासन को कोविड टेस्ट रिपोर्ट का इंतज़ार है। यह कहना जल्दबाज़ी होगी कि क्वारनटाईन सेंटरों में सातवीं मौत के बाद भी प्रशासन कुछ संवेदनशील हो पाएगा।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.