काम की खबर: SBI ने बदले ATM से कैश निकालने के नियम, साथ रखना होगा मोबाइल, तभी निकाल पाएंगे कैश… जानें क्या करना होगा

नईदिल्ली 18 सितम्बर 2020. हाल के दिनों में एटीएम ट्रांजैक्शन में धोखाधड़ी के मामले काफी बढ़े हैं। खासकर, लॉकडाउन के दौर में एटीएम फ्रॉड के मामलों मे तेजी आई। इसे देखते हुए देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्‍टेट बैंक (State Bank of India) ने ATM में होने वाले अनऑथराइज्ड ट्रांजैक्शन्स में कमी लाने के मकसद से वन टाइम पासवर्ड (OTP) बेस्ड ATM विदड्रॉल सुविधा को 24×7 लागू करने का फैसला किया है।

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया( State Bank of India) ने आज ने एटीएम से कैश निकालने के नियमों में बदलाव किया है. अब से 10000 रुपए या उससे अधिक की निकासी पर अब आपको ओटीपी( OTP) अनिवार्य हो गया है. SBI ने अपने खाताधारकों के पैसों को अधिक सुरक्षित बनाने के लिए नए नियम 18 सितंबर से लागू कर दिए हैं। नए नियम के मुताबिक अब SBI के एटीएम से 10 हजार या उससे अधिक की रकम निकालने पर आपको ओटीपी इंटर करना होगा। ये ओटीपी आपके रजसिट्र्ड मोबाइल नंबर पर बैंक की ओर से भेजा जाएगा. यानी बिना मोबाइल फोन के आप एटीएम से आप एटीएम से कैश नहीं पाएंगे.

क्या है नया नियम?

एसबीआई द्वारा एटीएम से पैसों की निकासी के लिए 18 सितंबर से नियमों में बदलाव किए जाने के बाद उसका कोई भी ग्राहक जब अपने साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर ले जाएगा, तभी पैसा निकाल सकेगा. क्योंकि, एटीएम से होने वाले अनऑथराइज्ड ट्रांजेक्शंस में कमी लाने के मकसद से एसबीआई ने वन टाइम पासवर्ड (OTP) आधारित एटीएम से निकासी सुविधा को चौबीसों घंटे लागू करने का फैसला किया है. यह सुविधा देश भर के सभी एसबीआई एटीएम पर लागू होगी. इससे पहले बैंक ने 10 हजार रुपये से ज्यादा की निकासी पर ओटीपी आधारित नकदी निकासी को रात 8 बजे से सुबह 8 बजे तक पेश किया था. यह नियम 1 जनवरी से लागू किया गया था. अब इस सुविधा का विस्तार किया जा रहा है.

कैश विदड्रावल के लिए करना होगा ये काम

अब 10,000 रुपये या ज्यादा की राशि के लिए एसबीआई के डेबिट कार्डधारकों को हर बार अपनी डेबिट कार्ड पिन के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा गया ओटीपी डालना होगा. बैंक की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि 24×7 ओटीपी आधारित नकदी निकासी की सुविधा को पेश करने के साथ एसबीआई ने एटीएम नकदी लेनदेन में अपने सुरक्षा के स्तर को और मजबूत किया है. बैंक के मुताबिक, इस सुविधा को पूरा दिन लागू करने से एसबीआई डेबिट कार्डधारक धोखाधड़ी, अप्रमाणित निकासी, कार्ड स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग आदि का शिकार होने से बचेंगे.

अब ओटीपी से निकलेगा पैसा

बैंक की इस सुविधा के जरिए एसबीआई एटीएम से नकदी निकासी की प्रक्रिया मौजूदा प्रक्रिया से बहुत ज्यादा अलग नहीं होगी. ओटीपी आधारित निकासी सुविधा एसबीआई कार्ड से अन्य बैंक के एटीएम से नकदी निकासी पर लागू नहीं होगी. ओटीपी आधारित प्रक्रिया के तहत जब कार्डधारक एसबीआई एटीएम में निकाली जाने वाली राशि डालेगा, तो एटीएम स्क्रीन पर ओटीपी डालने का विकल्प सामने आ जाएगा. रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर बैंक की ओर से भेजे गए ओटीपी डालने के बाद पैसे की निकासी हो जाएगी.

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई की पूरे भारत में करीब 22,000 शाखाएं हैं और एटीएम/सीडीएम नेटवर्क का आंकड़ा 58,500 से ज्यादा है. एसबीआई के करीब 6.6 करोड़ ग्राहक इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं. वहीं, 1.5 करोड़ ग्राहक मोबाइल बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं. 30 सितंबर 2019 तक एसबीआई का डिपॉजिट बेस 30 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का था.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected By NPG.NEWS!!