गजब की शादी : दुल्हे ने एक ही मंडप पर दो दुल्हन संग रचायी शादी……एक साथ दोनों लड़की से चल रहा था इश्क…. दोनों दुल्हन के नाम से एक ही कार्ड भी छपवाया… अजब प्रेम कहानी की गजब शादी की पूरी कहानी पढ़िये

बस्तर 7 जनवरी 2021। शादी 7 जन्मों का नहीं 14 जन्मों का बंधन है!…शादी दो परिवारों का नहीं तीन परिवारों का रिश्ता है !…शादी की ये अजीबो-गरीब परिभाषा सुनकर आपको हैरान होने की जरूरत नहीं, बस्तर के चंदू ने इस परिभाषा को बिल्कुल सटीक बना दिया है। चंदू ने गजब का चमत्कार किया है, उसने एक ही मंडप पर दो लड़कियों संग शादी रचायी। कमाल की बात तो ये है कि शादी के लिए बकायदा दोनों दुल्हन के नाम के साथ कार्ड छपाये गये, मेहमान बुलाये गये, दावत हुई और डांस-गाने के साथ तीनों परिवार के सदस्यों और मेहमानों की मौजूदगी में शादी हुई। हैरानी की बात तो ये है कि इस शादी से दोनों लड़कियों में से किसी को भी ऐतराज नहीं है।

मामला बस्तर के टिकरालोंहगा का है , जहां चंदू मौर्य ने एक ही मंडप पर हसीना और सुंदरी संग शादी की। दरअसल चंदू बिजली के पोल लगाने का काम करता है, इसी दौरान गांव में पोल लगाने के दौरान वो दोनों लड़की को दिल दे बैठा। शादी के पहले ही चंदू, हसाीना और सुंदरी एक साथ बातें किया करते थे। तीनों अलग-अलग गांवों के रहने वाले थे ऐसे में एक साथ बात करने के लिए इन्होंने टेक्नाेलॉजी का सहारा लिया और मोबाइल में कांफ्रेस कॉल के जरिये बातें करते रहे।टिकरालोंहगा में रहने वाले चंदू मौर्य की एक प्रेमिका हसीना बघेल करंजी गांव की और दूसरी सुंदरी कश्यप एरंडवाल की रहने है । दोनों लड़की से एक साथ वो इश्क लड़ा रहा था। इसी बीच सुंदरी गर्भवती हो गई। सुंदरी को पता था कि चंदू का प्रेम हसीना से भी चल रहा है और हसीना को भी पता था कि चंदू सुंदरी के साथ रिलेशनशिप में है। इसी बीच सुंदरी की गर्भवती होने की जानकारी तीनों के परिवार के लोगों को पता चल गई।

 

सुंदरी के घर वालों ने शादी का दबाव बनाया। इस पर चंदू ने दोनों लड़कियों के साथ शादी करने की इच्छा जाहिर की। इसके बाद तीनों परिवार के सदस्य भी इसके लिए राजी हो गए और फिर टिकरालोहंगा में ही शादी का आयोजन हुआ। हालांकि इस शादी को लेकर दो दुल्हन और दूल्हे के परिवार की ओर से अधिकारिक जानकारी नहीं आई है। चंदू ने दोनों लड़कियों के साथ एक ही मंडप में एक ही साथ सात फेरे लिये, इसके बाद गांव में रिसेप्शन (भोज) का आयोजन भी किया गया। जहां भोज का आयोजन किया गया था वहां दो दुल्हन और एक दूल्हे के बैठने के लिए स्टेज की व्यवस्था भी की गई थी। तीनों एक साथ एक ही स्टेज में बैठे और लोगों से शादी की बधाईयां ली।

 

Spread the love