npg

कैप्टन अमरिंदर चार बजे करेंगे बड़ा फ़ैसला ? : सलाहकार विमल का ट्वीट – ”यदि लोग तुम्हें धोखा देकर आश्चर्यचकित करते हैं तो तुम्हें अधिकार है कि तुम उनसे बदला लेकर उन्हें झटका दो”

चंडीगढ़,18 सितंबर 2021। विधायक दल की बैठक शाम पाँच बजे है लेकिन सबसे ज़्यादा खुद की सुनने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके पहले ही कोई फ़ैसला सबको सुना दें तो अचरज नहीं होना चाहिए। पटिसाला राजपरिवार के प्रमुख में एक और गौरवशाली सेना का इतिहास अपनी प्रोफ़ाइल में रखने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह बीते दिनों […]

Spread the love

कैप्टन अमरिंदर चार बजे करेंगे बड़ा फ़ैसला ? : सलाहकार विमल का ट्वीट – ”यदि लोग तुम्हें धोखा देकर आश्चर्यचकित करते हैं तो तुम्हें अधिकार है कि तुम उनसे बदला लेकर उन्हें झटका दो”
X

चंडीगढ़,18 सितंबर 2021। विधायक दल की बैठक शाम पाँच बजे है लेकिन सबसे ज़्यादा खुद की सुनने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह इसके पहले ही कोई फ़ैसला सबको सुना दें तो अचरज नहीं होना चाहिए। पटिसाला राजपरिवार के प्रमुख में एक और गौरवशाली सेना का इतिहास अपनी प्रोफ़ाइल में रखने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह बीते दिनों से जो कुछ हो रहा है उस पर मौन हैं।
नवजोत सिंह सिद्धू पूरी तरह हमलावर है और चुनावी वादों को पूरा ना होने से लेकर बेअदबी कांड और अकालियों से गठजोड़ को लेकर सिद्धू ने तब मोर्चा खोला जबकि 2019 के संसदीय चुनाव में राज्य के शहरी इलाक़ों में कांग्रेस के सूपड़ा साफ़ प्रदर्शन की वजह सिद्धू को बताते हुए उनके मंत्री पद के विभाग कम कर दिए गए। सिद्धू ने इसके बाद मंत्रीमंडल से इस्तीफ़ा दे दिया।

ऐसा नहीं है कि सिद्धू जो कर रहे हैं वो बस सिद्धू का दम ख़म है। कैप्टन अमरिंदर के तेवर खर्रा बोलने वाले के रहे हैं और उनकी राजनैतिक शैली ने उनके विरोधियों को टिकने नहीं दिया लेकिन उन्हें लामबंद जरुर कर दिया है। कैप्टन अमरिंदर के तेवर ने कांग्रेस के उस केंद्रीय नेतृत्व में से दो को नाराज़ किया है जिसमें तीन सदस्य हैं। सिद्धू के रुप में वह चेहरा मिल गया है जिसकी इस त्रयी के दो लोगों की तलाश थी, और माना जाता है कि इस समर्थन की वजह से सिद्धू “खुला बोल और खुला घात” कर रहे हैं।

जबकि सिद्धू को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया तब और उसके पहले कैप्टन अमरिंदर ने असहमति जताई और सूचना भिजवाई कि जातिगत समीकरण में यह फ़ैसला ग़लत बैठेगा।
अब जबकि पाँच बजे विधायक दल की बैठक है, उस बीच “मौन” कैप्टन अमरिंदर पर नज़रें टिक गई हैं जिन्होंने फ़ोन पर इस विधायक दल की बैठक को लेकर उनकी सम्मति ना लिए जाने पर इसे “अपमानित” करने वाला बताते हुए कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी को शिकायत की है। हालाँकि अमरिंदर के करीबी इसे शिकायत कहे जाने पर आपत्ति करते हैं और इसे केवल “एक आख़री बार अपनी बात रखना” बताते हैं।
सवाल है कि इस टेलीफ़ोनिक संवाद को एक आख़री बार बात रखना क्यों कहा जा रहा है। तो इसका जवाब अब से कुछ देर पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह के सलाहकार विमल संबली ने एक ट्वीट से मिलता है। उस ट्वीट पर विमल संबल ने लिखा है
”यदि लोग तुम्हें धोखा देकर आश्चर्यचकित करते हैं तो तुम्हें अधिकार है कि तुम उनसे बदला लेकर उन्हें दूगना झटका दो”
कैप्टन अमरिंदर का मौन जारी है, बेहद खर्रा बोलने वाले कैप्टन अमरिंदर सिंह खुद की इज़्ज़त को लेकर बेहद संवेदनशील और भयावह प्रतिक्रियावादी माने जाते हैं,उनका मौन मीडिया को भ्रम में डाल रहा है। लेकिन यह तय है कि कैप्टन अमरिंदर किसी सूरत खुद का अपमान बर्दाश्त नहीं करने वाले।
सियासती चर्चे हैं कि कैप्टन अमरिंदर सिंह चार बजे के आसपास ना केवल सीएम पद बल्कि कांग्रेस को भी अलविदा कह जाएँगे। लेकिन क्या यही कैप्टन का प्रतिशोध होगा ? जो कैप्टन अमरिंदर के अंदाज़ मिज़ाज तेवर को जानते हैं उन्हें पता है इसका बस एक जवाब है और वह जवाब है -”नहीं.. कैप्टन का प्रतिशोध शुरु होना बचा है..”

Next Story