…जब जोगी से बोले विधानसभा अध्यक्ष….”नयी-नयी मंत्री बनी हैं, क्यों चमका रहे हैं उन्हें आप”….जवाब में जोगी बोले – “वो मेरी रिश्तेदार भी हैं….चमका नहीं रहा… बड़ा हूं, इसलिए थोड़ा जोर से बोल रहा”

रायपुर 28 फरवरी 2020। ….प्रश्नकाल में आज दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी के नियमितिकरण का मुद्दा गूंजा। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने समाज कल्याण विभाग में अनियमित कर्मचारी के नियमितिकरण का मुद्दा उठाया। अजीत जोगी ने कहा कि घोषणा पत्र में इस बात का जिक्र किया गया था कि दैनिक वेतनभोगी, संविदाकर्मियों को नियमित किया जायेगा। लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई निर्देश नहीं आया। सरकार कब तक इनके नियमितिकरण को लेकर क्या किया है।

जवाब में समाज कल्याण मंत्री अनिला भेड़िया ने कहा कि – सरकार के पास ये प्रक्रिया विचाराधीन है।

अजीत जोगी ने पूरक सवाल पूछते हुए कहा कि – विचार ही करेंगे या कब तक विचार करती रहेंगी।

समाज कल्याण मंत्री ने बताया कि – ये सिर्फ उनके विभाग का मसला नहीं है, सभी विभागों का है, इसलिए समय सीमा बता पाना संभव नहीं है।

अजीत जोगी ने कहा कि – आपने घोषणा पत्र बनाने वक्त विचार तो किया होगा, लेकिन अब समय सीमा नहीं बता रही है।

अजीत जोगी के सवालों को देख विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि ….

“जिन्होंने जनघोषणा पत्र बनाया था, वो भी सदन में नहीं है और जिन्हे आखिरी निर्णय लेना है, वो भी सदन में नहीं है….जोगी जी आप खुद मुख्यमंत्री रहे हैं, इसलिए आपको पता है कि ऐसे निर्णय कौन लेता है, वो बेचारी नयी-नयी मंत्री बनी है और आप कृप्या करके उन्हे चमकाना बंद करे”

विधानसभा अध्यक्ष की बातों पर जोगी ने मुस्कुराते हुए कहा कि…

“मंत्रीजी मेरी रिश्तेदार भी हैं, इसलिए चमकाने का तो सवाल ही नहीं उठता, मैं उनसे पूछ रहा हूं और वो मेरे से छोटी है, इसलिए थोड़ा जोर से बोल सकता हूं”

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!