जब एसपी दफ्तर पहुंची फूलों से सजी कार….रिटायर्ड एएसआई की विदाई का दिन बना खास

*पिता को घर लेने फूलों से सजी कार लेकर पहुंचे पुत्र*

धमतरी 3 जनवरी 2020।. आमतौर पर पुलिस मुख्यालयों में लाल और नीली बत्तियां लगी वाहनें ही देखने को मिलती है, लेकिन गुरुवार को धमतरी जिला पुलिस मुख्यालय का नजारा कुछ अलग ही दिखाई दिया. यहां एक फूलों से सजी हुई कार एसपी कार्यालय परिसर के पास खड़ी थी.यह कार देखने से तो किसी दूल्हे की बारात के जैसे लग रही थी.लेकिन यह ना किसी दूल्हे की बारात थी ना ही कोई दुल्हन इसमें सवार होकर ससुराल जाने वाली थी. इसमें तो वह शख्स सवार होने वाला था जिसने अपनी जिंदगी के लगभग चार दशक पुलिस विभाग की सेवा में गुजार दिए. अब जब शासकीय सेवा से उनकी विदाई का वक्त आया तब इस भावुक पल को उनके बेटों ने भी कुछ खास कर दिखाया. विभाग और शासकीय सेवा से इस विदाई की बेला में पुत्र अपने पिता को घर ले जाने फूलों से सजी कार लेकर पहुंच गये. इस खूबसूरत नजारे को देख लोग ये कहते नही थके कि बाप और बेटों का प्यार हो तो ऐसा. दरअसल एसपी कार्यालय धमतरी में पदस्थ शिकायत शाखा प्रभारी एएसआई मदनलाल दीवान करीब 39 साल तक पुलिस विभाग में सेवा देने के बाद 31 दिसंबर 2019 को रिटायर्ड हो गये. उनकी सेवानिवृत्ति के बाद गुरुवार को एसपी कार्यालय में एसपी बीपी राज भानु ने उन्हें विदाई दी. विदाई के बाद रिटायर्ड एएसआई मदनलाल दीवान जब एसपी दफ्तर से बाहर निकले तो उनकी आंखें खुशी के आंसुओं से भर आई. उनके दो बेटे देवेंद्र दीवान और नूतन दीवान फूलों से सजी कार लेकर उनको घर ले जाने पहुंचे थे.बेटों ने उन्हें सम्मान कार की अगली सीट पर बैठाया और वहां से पहले गंगरेल बांध और फिर घर के लिए रवाना हो गए. रिटायर्ड एएसआई के पुत्रों का कहना है पुलिस विभाग में पदस्थ अधिकारी कर्मचारियों को परिवार के लिए काफी कम समय मिल पाता है. इस कम समय में भी उनके पिता ने परिवार को अपना पूरा समय दिया और बेटों को खुद के पैरों पर खड़ा कर दिया. आज शासकीय सेवा से उनकी विदाई का समय आ गया, यह पल काफी भावुक है लेकिन इस भावुक पल को वह अपने और अपने पिताजी के लिए यादगार बनाना चाहते थे. इसलिए उन्होंने दूल्हे की गाड़ी की तरह कार को सजाकर अपने पिता को घर ले जाने का फैसला किया.

Spread the love