comscore

महिला विधायक की ये कैसी संवेदनशीलता…? शहीद की चिता की राख ठंडी नहीं हुई कि जन्मदिन समारोह का आयोजन कर डाला, कोरोना के बीच हेल्थ मिनिस्टर भी हेलिकाप्टर से पहुंच गए

0 एसडीएम ने आग्रह किया था कोरोना के कारण जिले में 144 प्रभावशील है, समारोह का आयोजन न किया जाए
0 भाजपा विधायक दल के सचिव ने कोरोना के तांडव और जवानों की शहादत के बीच जन्मदिन समारोह को बताया शर्मनाक

रायपुर/ राजनांदगांव, 8 अप्रैल 2021। राजनांदगांव जिले के खुज्जी विधायक छन्नी साहू ने कोरोना का तांडव और बीजापुर के नक्सली हमले में जवानों की शहादत के बीच अपना जन्मदिन मनाकर विवादों में आ गई है। बताते हैं, बीजापुर नक्सली हमले में राजनांदगांव जिले का भी एक जवान शहीद हुआ था। 5 अप्रैल को जवाना का अंतिम संस्कार किया गया। और 7 अप्रैल को विधायक ने जन्मदिन समारोह का आयोजन कर डाला।
बताते हैं, राजनांदगांव जिला प्रशासन के अधिकारियों ने एसडीएम के माध्यम से खबर कराई थी कि कोरोना के कारण जिले में धारा 144 प्रभावशील है। इसके बाद भी मंच, पंडाल बनाकर समारोह का आयोजन कर दिया गया। बताते हैं, विधायक के लोगों ने जिला प्रशासन को अश्वस्त किया था कि 20-25 से अधिक लोग नहीं जुटेंगे। मगर जन्मदिन समारोह की फोटो और वीडियो इसकी चुगली कर रही है कि किस तरह जन्मदिन मनाया गया। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव इस कार्यक्रम में प्रायवेट हेलिकाप्टर से पहुंचे। उनके हेलिकाप्टर को देखने के लिए आसपास के कई गांवों के लोग हेलीपैड के चारों ओर जुट गए।

 

भाजपा विधायक दल के स्थायी सचिव जितेन्द्र वर्मा ने आरोप लगाया है कि नक्सली हमले में शहीद हुए 22 जवानों की चिता की राख भी ठंडी नहीं हुई और छत्तीसगढ़ में कोरोना से हर रोज 50 लोगों की मौत हो रही है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस सरकार के विधायक और मंत्री शहीदों की चिताओं और कोरोना पीड़ितों की मृत्यु का मजाक बनाते हुए जश्न मना रहे हैं। यह कांग्रेस सरकार की संवेदनहीनता को प्रदर्शित कर रहा है।

Spread the love