मौसम अलर्ट : छत्तीसगढ़ में भी बदलेगा मौसम का मिजाज…. प्रदेश के कई हिस्सों में दिखेगा शीतलहरी का असर, कोहरा और बादलों की लुकाछुपी के भी आसार…. देश में मौसम का क्या है हाल देखिये

नई दिल्ली 7 जनवरी 2021। उत्तर भारत के पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी जारी है और मैदानी इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि ने ठंड बढ़ा दी है। छत्तीसगढ़ में मौसम के इस बदलाव का असर दिखेगा। छत्तीसगढ़ के हिस्सों में शीत लहर का असर दिख सकता है। सुबह प्रदेश के कई हिस्सों में कोहरे का भी असर दिखेगा। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक दिल्ली में घना कोहरा छाए रहने का पूर्वानुमान जताया है। वहीं मौसम विभाग ने जम्मू कश्मीर के 9 जिलों में बर्फ के तूफान का अलर्ट जारी किया है और लोगों को घरों से नहीं निकलने की सलाह दी है। देश में अलग-अलग कई राज्यों में सर्दी का सितम बढ़ रहा है और खासकर उत्तर भारत में ठंड अपना कहर दिखा रही है।

इसके अलावा लद्दाख, हिमाचल, उत्तराखंड में भी बर्फबारी से जनजीवन प्रभावित हुआ है। उत्तर भारत की बात करें तो पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश के पश्चिमी भागों, उत्तरी और पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। मौसम विभाग ने पहले ही 7 जनवरी तक के लिए पूर्वानुमान दे दिया है कि दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है और इसके बाद आने वाले दिनों में ठंड के साथ-साथ शीतलहर बढ़ सकती है।

राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश का दौर जारी

राजस्थान के कई इलाकों में पिछले 24 घंटे के दौरान बारिश के बावजूद राज्य के अधिकतर हिस्सों में रात का तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान चूरू के राजगढ़ में 18 मिलीमीटर, श्रीगंगानगर के घडसाना में 10 मिलीमीटर, करणपुर में आठ मिलीमीटर, हनुमानगढ़ के भादरा में सात मिलीमीटर, चूरू के तारानगर में सात मिलीमीटर, जयपुर के विराटनगर में 6.5 मिलीमीटर, श्रीगंगानगर के तारागनर में 5.6 मिलीमीटर, श्रीगंगानगर और चूरू में पांच-पांच मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। वहीं अन्य कई स्थानों पर एक मिलीमीटर से लेकर चार मिलीमीटर तक बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार राज्य के एकमात्र पर्वतीय पर्यटक स्थल माउंट आबू में न्यूनतम तापमान शून्य से 3.4 डिग्री सेल्सियस कम और जैसलमेर में 7.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अजमेर संभाग में रात का तापमान 3-4 डिग्री अधिक, जयपुर, कोटा, बीकानेर संभाग में 6-7 डिग्री अधिक, उदयपुर संभाग में 3-4 डिग्री अधिक जबकि जोधपुर संभाग में रात का तापमान सामान्य के आसपास दर्ज किया गया। विभाग ने आगामी 24 घंटे के दौरान झुंझुनूं, सीकर, अजमेर, अलवर, चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर, जोधपुर, नागौर जिलों में घने कोहरे की संभावना जताई है।

जानिए उत्तर प्रदेश में आगे कैसा रहेगा मौसम का हाल

मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों का अनुमान जारी करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में कोहरे की संभावना बनी हुई है। कई जिलों में घने से बेहद घने कोहरे का भी अनुमान जारी किया है। बादलों के छंटने के साथ ही तापमान में गिरावट का भी अनुमान जारी किया गया है। मौसम विभाग का कहना है कि कोहरा होने के बाद भी दोपहर तक धूप निकल जाएगी। अगले एक हफ्ते के अनुमानित तापमान का आंकड़ा जारी करते हुए मौसम विभाग ने बताया है कि प्रदेश के लगभग सभी जिलों में दिन में तापमान 20 डिग्री सेल्सियस या इससे ऊपर ही दर्ज किया जाएगा। हालांकि, रात के तापमान में थोड़ी गिरावट आ सकती है लेकिन, ये भी 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास ही बना रहेगा।

हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी का दौर जारी

हिमाचल प्रदेश में तीन दिन से बर्फबारी का दौर जारी है। बुधवार सुबह सुबह भी बारिश व हिमपात जारी रहा। मौसम विभाग के निदेशक डॉ. मनमोहन सिंह का कहना है कि दो दिन से सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के कारण प्रदेश में बारिश और हिमपात हो रहा है। बुधवार से पश्चिमी विक्षोभ कमजोर हो जाएगा। मौसम विभाग के अनुसार आगे चार दिन मौसम साफ रहने की संभावना है। दो दिन से जारी हिमपात से लाहुल घाटी का संपर्क मनाली से कट गया है। इसके अतिरिक्त अटल सुरंग रोहतांग के दोनों छोर पर डेढ़ फीट से अधिक हिमपात हो चुका है। किन्नौर, चंबा के पांगी, भरमौर, शिमला जिला के कुफरी, नारकंडा, खड़ापत्थर में मंगलवार शाम तक हिमपात जारी रहा, जबकि प्रदेशभर में निचले क्षेत्रों में बारिश हुई।

झारखंड और चेन्नई में जानिए मौसम का हाल

मौसम विभाग के मुताबिक, झारखंड की राजधानी रांची व आसपास के इलाके में अगले तीन दिनों तक आकाश में हल्के बादल छाये रहेंगे, वहीं न्यूनतम तापमान में लगभग दो डिग्री की वृद्धि जारी रहने की संभावना है। चेन्नई स्थित मौसम कार्यालय ने राज्य के विल्लुपुरम, चेंगलपट्टू, चेन्नई, कांचीपुरम, कुड्डलूर, नागपट्टिनम और तिरुवन्नमलाई जिलों में एवं पुडुचेरी में भारी बारिश (7 सेंटीमीटर से 11 सेंटीमीटर तक) की चेतावनी जारी की है।

पंजाब-हरियाणा में बारिश

पंजाब और हरियाणा में बुधवार को बारिश हुई और न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक दर्ज किया गया। वहीं, चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 13.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से आठ डिग्री सेल्सियस अधिक था।

दक्षिणी-पश्चिमी भारत का मौसम पूर्वानुमान

तटीय और उत्तरी तमिलनाडु के कुछ हिस्सों में एक या दो भारी बारिश के साथ हल्की से मध्यम बारिश भी संभव है, जबकि आंतरिक तमिलनाडु, दक्षिणी तटीय आंध्र प्रदेश, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह, लक्ष्यद्वीप, केरल, तटीय कर्नाटक, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों, विदर्भ और मराठवाड़ा में हल्की बारिश की गतिविधियां हो सकती हैं।

पश्चिमी विक्षोभ का असर हो रहा खत्‍म

मौसम विशेषज्ञों की मानें तो बुधवार (6 जनवरी) से पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म हो रहा है। इस वजह से अब दिल्ली को आगे ठंड की ठिठुरन के बीच बारिश से राहत मिल सकती है। गुरुवार (7 जनवरी) से एक और पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की भी संभावना जताई गई है। हालांकि, इसका असर दिल्ली में देखने को नहीं मिलेगा जिससे बारिश होने की संभावना नहीं है। मौसम विज्ञानियों ने बताया कि आगामी 10 जनवरी तक दिल्ली वासियों को अधिक सर्दी से राहत मिलेगी। इसके बाद न्यूनतम तापमान में कमी आना शुरू होगी जिससे जनवरी की सर्दी का एहसास होगा।

Spread the love