इस क्रिकेट टीम के हेड कोच बने वसीम जाफर, इस साल मार्च में लिया था संन्यास

नईदिल्ली 23 जून 2020। लगभग दो दशक तक क्रिकेट खेलने के बाद जाफर ने इस साल मार्च में संन्यास लिया था। फर्स्ट क्लास क्रिकेट और टूर्नामेंट्स में उन्होंने मुंबई और विदर्भ का प्रतिनिधित्व किया है। वो पहली बार किसी टीम के साथ मुख्य कोच के रूप में जुड़े हैं। जाफर ने कहा, ‘मैं पहली बार किसी टीम का हेड कोच बन रहा हूं। यह मेरे लिए बेहद चुनौतीपूर्ण और कुछ नया है, जो करियर खत्म होने के तुरंत बाद शुरू हो रहा है। मैं इसके लिए तैयार हूं।’ उन्होंने कहा, ‘यह एक नई टीम है, उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है। वो विदर्भ के खिलाफ क्वॉर्टर फाइनल (2018-19 सीजन में रणजी ट्रॉफी) खेल चुके हैं। लेकिन वे फिर से ग्रुप डी (प्लेट समूह) में वापस चले गए हैं, इसलिए यह एक बड़ी चुनौती होने जा रही है। मुझे खुशी है कि मैं निचले पायदान से शुरू कर रहा हूं और मेरे लिए यह एक अच्छा अनुभव होगा।’

उन्होंने कहा कि उन्हें मुंबई और विदर्भ की टीम के युवा खिलाड़ियों को सलाह देकर अच्छा लगता था और इन चीजों को उत्तराखंड के लिए आगे बढ़ा कर वो खुश हैं। भारत के लिए 31 टेस्ट खेलने वाले 42 साल के इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा, ‘मैंने अपने पिछले पांच-छह साल के करियर में युवा खिलाड़ियों का मार्गदर्शन किया है। यह ऐसी चीज है जिसका मैं लुत्फ उठाता हूं। मुझे युवाओं की मदद करने और उन्हें बेहतर खिलाड़ी बनते हुए देखने में बहुत खुशी होती है।’

Get real time updates directly on you device, subscribe now.