किसानों और पुलिस में हिंसक झड़प….. ईंट-पत्थर चले, बैरिकेड्स तोड़ नदी में फेंका…. पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में आंसू गैस के गोले छोड़े

चंडीगढ़ 26 नवंबर 2020। पटियाला और अंबाला सीमा पर किसानों का प्रदर्शन अब उग्र हो गया है और उन्होनें रास्ता रोकने के लिए लगाई गईं, बैरिकेडिंग को उखाड़ दिया।  इसके बाद पुलिस ने चेतावनी के साथ किसानों पर टीयर गैस का इस्तेमाल कर दिया। दिल्ली कूच में पंजाब और हरियाणा समेत कुल छह राज्यों के किसान शामिल हैं. उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान और केरल के किसान भी आज और कल (गुरुवार और शुक्रवार) दिल्ली पहुंचकर किसान कानूनों के खिलाफ विरोध मार्च करने वाले हैं.

किसानों के 500 संगठन इस विरोध मार्च में शामिल हैं. इस बीच दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने कोरोना वायरस संकट को देखते हुए किसानों को दिल्ली में किसी भी तरह के जमावड़े और रैली करने की इजाजत नहीं दी है.राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के लिए ट्रैक्टरों और पैदल चलकर आ रहे पंजाब के हजारों किसानों को हरियाणा पुलिस ने अंबाला के पास रोक दिया है.

इससे भाजपा शासित हरियाणा की पुलिस और किसानों के बीच टकराव की स्थिति पैदा हो गई है. अंबाला के पास किसानों और पुलिस के बीच झड़प की खबर है. इस दौरान ईंट-पत्थर भी चले. किसानों को रोकने के लिए सड़कों पर और पुल पर बैरिकेड्स लगाए थे जिसे किसानों तोड़कर नदी में फेंक दिया. किसानों को आगे बढ़ता देख पुलिसकर्मियों ने आज सुबह उन पर ठंडे पानी की बौछार की है और आंसू गैस के गोले भी दागे हैं.

Spread the love