VIDEO:जिस थाने का था फ़रार आरोपी.. वहीं जन्मदिन का मनाया जश्न.. वीडियो हुआ वायरल तो हुई गिरफ़्तारी.. सिपाही सस्पेंड

अंबिकापुर,5 जून 2020। ज़मीन बिक्री के मसले में रिकॉर्ड से छेड़छाड़ करने के मामले में जिस थाने में अपराध दर्ज हुआ, आरोपी बेख़ौफ़ फ़िल्मी स्टाइल उसी थाने में जन्मदिन की पार्टी मना कर चला गया। वीडियो वायरल हुआ तो आईजी से शिकायत हुई जिसके बाद मिली फटकार के बाद आरोपी को गिरफ़्तार किया गया वहीं एक आरक्षक को निलंबित कर दिया गया है।हालाँकि इस पूरे मसले में सवालों के केंद्र में आए कोतवाल पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

बीते 16 मई को कोतवाली पुलिस ने सिद्धार्थ मिश्रा एवं अन्य के विरुद्ध धारा 420,467,468,34 और 120 बी के तहत अपराध दर्ज किया था। मिली जानकारी के अनुसार मामले की जाँच कोतवाल विलियम टोप्पो कर रहे हैं। आरोपी सिद्धार्थ मिश्रा मंगलवार की देर शाम क़रीब नौ बजे साथियों के साथ कोतवाली पहुँचा और एक आरक्षक का केक काटकर बाक़ायदा जन्म दिन मनाया। खबरें हैं कि जब यह सब हो रहा था तो कोतवाली प्रभारी विलयम टोप्पो थाने में ही मौजुद थे।

आरोपी सिद्धार्थ मिश्रा और साथियों ने जन्मदिन के इस कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया, जिसके बाद शिकायत आईजी रतनलाल डांगी के पास पहुँची तो उन्होने बेहद नाराज़गी ज़ाहिर की। बताया जा रहा है कि आरोपी सिद्धार्थ मिश्रा ने केवल दबंगई दिखाने के उद्देश्य से यह हरकत की, सिद्धार्थ मिश्रा थाने में अपने आरक्षक साथी के साथ पहुँचा और ड्यूटी पर तैनात संतरी के जन्मदिन केक काट वीडियो को
वायरल किया।

कप्तान आशुतोष सिंह ने इस मामले में आरक्षक अभय चौबे को निलंबित कर दिया है, वहीं दबिश देकर आरोपी सिद्धार्थ मिश्रा को गिरफ़्तार कर लिया गया। सिद्धार्थ मिश्रा पूर्व में भी विवादों में रहा है।सिद्धार्थ मिश्रा पर पार्षद आलोक दुबे पर वाहन चढ़ाने की कोशिश का भी मामला खबरों में रहा था।हालाँकि इस मामले में यह सवाल है कि कोतवाल जो कि इस मामले के विवेचना अधिकारी हैं, उनके मौजुद रहते यह सब कुछ हुआ और पूरी कार्यवाही में उस कोतवाल पर कोई सवाल तक नहीं आया है।

Spread the love