npg

VIDEO: मेरे विधायक हैं…मैं कैसे नहीं मिलूंगा…? दिल्ली रवानगी से पहले सीएम भूपेश बोले, एयरपोर्ट से सीधे एआईसीसी जाउंगा, वहां से जैसा निर्देश मिलेगा, आगे को कार्यक्रम तय होगा

रायपुर, 4 अक्टूबर 2021। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि फिलहाल मैं दिल्ली जा रहा हूं। एयरपोर्ट से सीधे एआईसीसी जाउंगा। वहां से जो निर्देश मिलेगा, आगे का प्लान तय किया जाएगा। दिल्ली में शीर्ष नेताओं से मुलाकात के प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तो मैं दिल्ली जा रहा हूं, फिर आागे […]

Spread the love

VIDEO: मेरे विधायक हैं…मैं कैसे नहीं मिलूंगा…? दिल्ली रवानगी से पहले सीएम भूपेश बोले, एयरपोर्ट से सीधे एआईसीसी जाउंगा, वहां से जैसा निर्देश मिलेगा, आगे को कार्यक्रम तय होगा
X

रायपुर, 4 अक्टूबर 2021। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि फिलहाल मैं दिल्ली जा रहा हूं। एयरपोर्ट से सीधे एआईसीसी जाउंगा। वहां से जो निर्देश मिलेगा, आगे का प्लान तय किया जाएगा। दिल्ली में शीर्ष नेताओं से मुलाकात के प्रश्न पर मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी तो मैं दिल्ली जा रहा हूं, फिर आागे की बात होगी।

यूपी लखीमपुर में हुई घटना को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि, स्पष्ट हो जाता हैं कि उनकी मानिष्कता क्या है। ये निरूकुंशता की निशानी है, इससे स्पष्ट हो जाता हैं कि, ये तानाशाही रवैया हैं। हिंदुस्तान में प्रजातंत्र है, ये लोकतांत्रिक देश है और इस सब को बरदास्त नहीं किया जा सकता है।

विधायकों के दिल्ली दौरे पर कहा कि, मेरे विधायक हमेशा आते रहते हैं जाते रहते हैं, उसमें क्या है। अब मैं आज दिल्ली जा रहा हूं वहां से एआईसी का जो निर्देश होगा इस हिसाब से कार्रवाई होगी। यहां से सीधे एआईसी जाउंगा।
सिलगेर में गोली से आदिवासी किसान की मौत पर बोले सीएम…

सिलगेर में भारतीय जनता पार्टी को हमने जाने से रोका, वो तो खुद ही नहीं वहां गये, लौट के आ गये। हम तो पूरी व्यवस्था किये थे, कि वो जाएं और वहां के लोगों से मिलकर आये। क्यों नहीं गये रमन सिंह गए। यहां अभनपुर के किसी गांव में वो फोटो खिंचाने के लिए गये थे। नंदकुमार साय जी जरूर गये थे। कुछ और उनके दल के लोग गये थे। लेकिन वो बीच से ही लौट के आ गये। हमने तो नहीं रोका। वो लोग हमे क्यों लखीपुर जाने से रोक रहे है। छत्तीसगढ़ में तो हमने नहीं रोका। चाहे एनजीओ आये, पत्रकार गये। विपक्ष के लोग गये हमने नहीं रोका, पर वो क्यों रोक रहे है। हम क्यों पीड़ितों से नहीं मिल सकते और हम क्यों नहीं घटना की जानकारी ले सकते है।

विपक्ष को नजरबंद करने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि, कल जो घटना घटी वो बेहद ही निंदनीय है। प्रियंका जी लखीमपुर जा रहीं थी। रास्ते में ही सीतापुर में उन्हें रोका गया और उन्होंने कहा कि, आपके पास गिरफतारी वारंट है, तो उन्होंने कुछ भी नहीं कहा। और भी विपक्षी दल के लोगों को उनके घरों में ही नजरबंद करके रखे हुये है। क्या प्रजातंत्र यहीं है, जो लोगों को मिल सके। यदि घटना घटती हैं तो विपक्ष के लोग जाते ही हैं। सत्ता दल के लोग भी जाऐ। हम तो सिलगेर में हमारे सांसद नेता सबको भेजा, ताकि वो लोग वहां के लोगों से बात कर सके। आप बातचीत का रास्ता ही बंद कर देना चाहते है, किसी का आंसू पोछना ही गुनाह हो गया है हिंदुस्तान में। एयरपोर्ट में किसी को उतरने नहीं दे रहे है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि, जिस तरह से उत्तर प्रदेश में हो रहा है, उससे तो वहां के मुख्यमंत्री को बर्खास्त ही कर देना चाहिए।

एआईसी में बड़े नेता से मिलने के सवाल पर कहा कि, वहां जा रहा हूं, उसके बाद वहां से आगे बात होगी।
विधायकों के दिल्ली में रहने को लेकर पूछे गये सवाल पर कहा कि, उनसे तो लगातार मेरी मुलाकात होती रहती है। ये लोग घुमने फिरने के लिए गये है, मैं पहले ही बोल रहा हूं। इसे राजनीतिक चश्में से नहीं देखें।
क्या विधायक भी जाएंगे क्या लखीमपुर…? मुख्यमंत्री ने कहा कि, पार्टी का निर्देश हैं, उनकों मिलेगा तो वो जाएंगे, नहीं मिलेगा तो वो नही जाएंगे।

क्या आप उन विधायकों से मुलाकात करेंगे क्या…?
मुख्यमंत्री ने कहा कि, वो मेरे विधायक हैं, मैं विधायक दल का नेता हूं। ये पहली बार ऐसा पूछ रहें है कि विधायकों से आप मिलेंगे। अरे भई मैं विपक्षी नेताओं से मिलता हूं तो अपने विधायकों से मिलने में कोई दिक्कत हैं क्या। विधायक दल का नेता हूं मैं…अपने विधायकों से मिलने में कोई रोक टोक हैं क्या।

विधायक वापस आ रहे हैं…?
मुख्यमंत्री ने कहा कि, वो आप लोगों को जानकारी है और क्यों नहीं वापस आएंगे और कीतने दिनों तक रहेंगे। घूम फिर लिए अब वापस आ जाएंगे।

Next Story