comscore

1 मई से शुरू नहीं हो पायेगा वैक्सीनेशन!…….कई राज्यों में नहीं है वैक्सीन….छत्तीसगढ़ सहित इन राज्यों में क्या है स्थिति, पढिये

नई दिल्ली 29 अप्रैल 2021जहां देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से तबाही मची हुई है वहीं दूसरी ओर 1 मई से शुरू हो रहे 18 साल के ऊपर के लोगों के टीकाकरण कार्यक्रम को बड़ा झटका लगा है। कोरोना वैक्सीन की कमी के चलते कई राज्यों ने हाथ खड़े कर दिए हैं। गौरतलब है कि, देश में कोरोना वायरस के ऐसे माहौल में यदि मोदी सरकार के कोरोना टीकाकरण अभियान को झटका लगता है तो हालात और बिगड़ सकते हैं। वहीं कई अलग-अलग अध्ययनों में बताया गया है कि देश में 1 मई से कोरोना वायरस की दूसरी लहर अपनी पीक पर होगी। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं और उन्हें अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक और मिलेंगी। वहीं केंद्र सरकार 45 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए टीके उपलब्ध कराना जारी रखेगी। 

छत्तीसगढ़ में टीकाकरण का क्या होगा

एक मई से शुरू होने वाले तीसरे चरण के टीकाकरण में छत्तीसगढ़ के एक करोड़ पैंतीस लाख लोगों को टीका लगना है, इसकी तैयारियां जारी हैं. टीकाकरण केंद्रों से लेकर टीके की उपलब्धता, परिवहन, कोल्डचेन, स्वास्थ्य अमले सहित सभी तैयारियां की जा रही हैं. यह भी बताया गया कि सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायटेक को 25-25 लाख टीके का आदेश भेजा जा चुका है. हालांकि अभी तक दवा कम्पनी से कोरोना वैक्सीन को लेकर साफ संकेत नहीं मिल पाया है, ऐसे में 1 मई से टीकाकरण पर संकट है। कहा जा रहा है कि वैक्सीन निर्माता कम्पनी जून जुलाई में वैक्सीन उपलब्ध कराने की बात कह रही है।

 

महाराष्ट्र में 25-30 लाख खुराक मिलने तक टीकाकरण अभियान नहीं”
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि राज्य को कोरोना वायरस रोधी टीके की 25-30 लाख शीशियां जब तक नहीं मिल जाती तब तक 18-44 साल की उम्र के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू नहीं किया जाएगा. टीकाकरण शुरू करने के लिए कम से कम पांच दिन का पर्याप्त स्टॉक होना चाहिए. राज्य की क्षमता रोजाना आठ लाख लोगों को टीका लगाने की है. महाराष्ट्र कई बार टीकों की कमी की वजह से टीकाकरण अभियान रोका जा चुका है जो 45 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए चल रहा है.

सावंत ने भी कहा कि राज्य को जब कोविड रोधी की खुराकें मिल जाएंगी तब वह 18-44 साल के लोगों के लिए टीकाकरण अभियान शुरू करेगा. गोवा सरकार ने कोविशील्ड टीका बनाने वाले सीरम इंस्ट्टीयूट ऑफ इंडिया को पांच लाख खुराकों का ऑर्डर दिया हुआ है.

 

मध्य प्रदेश में 3 मई के बाद टीकाकरण
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में एक मई से टीकाकरण अभियान शुरू किया जाना था, लेकिन टीका निर्माता कंपनियों से टीका प्राप्त नहीं होने के कारण यह अभियान एक मई से शुरू नहीं किया जा सकेगा. प्रदेश में तीन मई को टीकों की खुराक मिलने की संभावना है और उसके बाद इस आयु वर्ग का टीकाकरण का काम किया जाएगा.

 

आंध्र और तेलंगाना में भी टीके की कमी
टीके की कमी से जूझ रहे तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में भी टीकाकरण अभियान के नए चरण के शुरू होने की संभावना नहीं है. तेलंगाना जन स्वास्थ्य के महानिदेशक जी श्रीनिवास राव ने कहा कि राज्य सरकार टीका निर्माताओं के संपर्क में है लेकिन इसे लेकर कोई निश्चितता नहीं है कि टीकाकरण के लिए स्टॉक कब उपलब्ध होगा. टीकाकरण अभियान शुरू करने की कोई संभावना नहीं हैं. हम टीके की तलाश में हैं. हमें करीब चार करोड़ खुराक की जरूरत है.

 

आंध्र प्रदेश के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, टीका निर्माताओं से टीके की खरीद में देरी की वजह से एक मई से टीकाकरण अभियान शुरू नहीं किया जा सकता है. राज्य सरकार ने निर्माताओं को टीके की आपूर्ति के लिए पत्र लिखा था और अभी उनसे कोई पुष्टि नहीं मिली है.

 

पंजाब, गुजरात में टीकाकरण को लेकर अनिश्चितता
पंजाब और गुजरात में एक मई से टीकाकरण को लेकर अनिश्चितता है, क्योंकि दोनों राज्यों की सरकारों ने कहा है कि उनके पास कोरोना वायरस रोधी टीके की पर्याप्त खुराकें नहीं हैं. पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा, ‘हमें टीके की पर्याप्त खुराकें नहीं मिल रही हैं. इसलिए हमें समस्या का सामना करना पड़ रहा है. टीकाकरण के लिए हमारे पास पर्याप्त संख्या में कर्मी और व्यवस्था है.’

 

वहीं गुजरात सरकार ने कहा कि दवा कंपनियों से पर्याप्त संख्या में टीका मिलने पर ही वह तीसरे चरण का टीकाकरण अभियान शुरू करेगी. बहरहाल, राज्य में 18 से 45 साल तक के लोगों के टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

 

जम्मू में टीकाकरण 20 मई के आसपास शुरू होने की संभावना
जम्मू कश्मीर में 1 मई से 18 साल से अधिक की आयु के लोगों के लिए कोरोना टीकाकरण शुरू नहीं होगा. जम्मू कश्मीर के स्वास्थ्य विभाग के फाइनैंशल कमिश्नर ने एबीपी न्यूज से दावा किया कि वैक्सीन उपलब्ध न होने के कारण प्रदेश में यह टीकाकरण 20 मई के आसपास शुरू होगा.

 

दिल्ली के पास भी टीके नहीं हैं
दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि टीकाकरण के लिए शहर के पास टीके नहीं हैं और इनकी खरीद के लिए उत्पादकों को ऑर्डर दे दिए गए हैं. हालांकि, मंत्री ने कहा कि इस श्रेणी में आने वाले लोगों को टीका देने की तैयारी पूरी हो चुकी है. उन्होंने यह भी कहा कि उत्पादकों ने दिल्ली सरकार को फिलहाल टीका आपू्र्ति कार्यक्रम उपलब्ध नहीं कराया है.

 

बिहार सरकार के पास भी वैक्सीन नहीं
बिहार में एक मई से टीकाकरण नहीं हो पाएगा. बिहार स्टेट हेल्थ सोसाइटी की ओर से कहा गया है कि दूसरे सप्ताह से 18 साल से ऊपर वालों को कोरोना का टीका लगेगा. बिहार में 18-45 साल के लोगों की आबादी 5.46 करोड़ है. 18 साल के ऊपर के लोगों को टीका लगाने के लिए पहला ऑर्डर दे दिया दया है.

Spread the love