बेखौफ हुए रेत माफिया,  जिला पंचायत सदस्य और जनप्रतिनिधियों को बंधक बनाकर बेदम पीटा, निर्वस्त्र कर बनाया वीडियो

धमतरी 19 जून 2020. जिले में अवैध रेत उत्खनन से जुड़े माफिया और उनके गुर्गे बेखौफ होकर गुंडागर्दी पर उतर आए है. ग्रामीणों से अवैध रेत उत्खनन की शिकायत मिलने पर शुक्रवार की रात राजपुर डाभा रेत खदान पहुंचे जिला पंचायत सदस्य खुबलाल ध्रुव और उनके साथियों को रेत माफिया और उनके गुर्गो ने बंधक बनाकर लाठी डंडे और राॅड से प्राणघातक हमला किया है.
इस हमले में जिला पंचायत सदस्य और उनके कुछ साथी बुरी तरह से घायल हो गए है. जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती में भर्ती कराया गया है.

आपको बता दें कि 15 जून से प्रदेश के सभी रेत खदानों को बंद करने के आदेश हैं. इसके बाद भी धमतरी जिले के रेत खदानों में जेसीबी और चेन माउंटेन मशीन लगाकर धड़ल्ले से रेत का उत्खनन किया जा रहा है. अवैध उत्खनन की शिकायत मिलने पर जिला पंचायत सदस्य कुछ स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं कार्यकर्ताओं के साथ शुक्रवार की रात राजपुर डाभा रेत खदान पहुंचे थे. जहां लाठी डंडे सहित अन्य हथियारों से लैस रेत माफियाओं और उनके करीब 60 से 70 गुर्गाे ने जिला पंचायत सदस्य और उनके साथियों को खदान में बने तंबू में बंधक बना लिया. रात करीब 12 बजे से 3 बजे तक उन्हें कैद करके लाठी डंडे और रॉड से बुरी तरह से पिटाई की.

इसके बाद विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देकर उन्हें छोड़ दिया. जान बचाकर किसी तरह से रुद्री थाना पहुंचे जिला पंचायत सदस्य ने माफियाओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने बताया कि रेत खदान में बाहरी लोगों का जमवाड़ा था. जिन्होने उसे बंधक बनाया और मारपीट किया. यहां तक कि मोबाइल भी लूट लिया और उसे निर्वस्त्र कर अश्लील वीडियों भी बनाया. थाना में शिकायत दर्ज होने के बाद जिला पंचायत सदस्य सहित अन्य घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

आदिवासी समाज ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

जिला पंचायत सदस्य के साथ हुई मारपीट की घटना से आदिवासी समाज में काफी आक्रोश देखा जा रहा है. अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष आर एन ध्रुव एवं आदिवासी समाज प्रमुखों ने कहा है कि एक निर्वाचित जनप्रतिनिधि के साथ हुई यह घटना काफी निंदनीय है. यूपी और बिहार की तरह रेत माफियाओं का गुंडाराज अब धमतरी में भी बढ़ने लगा है. समाज ने मांग किया कि तत्काल आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्रवाई की जाए. कार्यवाही में देरी होने पर समाज उग्र आंदोलन करने के लिए मजबूर होगा.

बीजेपी ने कानून व्यवस्था पर उठाया सवाल

भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष शशि पवार ने घटना के बाद कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए इसकी जानकारी पार्टी हाईकमान को देने की बात कही है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे ने बताया कि जिला पंचायत सदस्य की शिकायत पर थाना में अपराध दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार करने पतासाजी की जा रही है.

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.