अनूठी क़वायद – डेढ़ लाख की आबादी वाले शहर में एक भी मरीज़ नही.. लेकिन सतर्कता की वजह से छ ज़ोन में बाँटा शहर..नागरिक नहीं जा पाएँगे दूसरे ज़ोन..

रायपुर,17 अप्रैल 2020।क़रीब डेढ़ लाख की आबादी वाले उस शहर में एक भी कोविड संक्रमित नहीं मिला है, बावजूद उसके एहतियातन जिला प्रशासन ने जो कदम उठाया है, और जितनी कुशलता के साथ तेज़ी से किया है, वह हैरान कर देता है। संभाग मुख्यालय इस शहर को जिला प्रशासन ने छ ज़ोन में बाँट दिया है, ये ज़ोन इस तरह बनाए गए हैं कि हर ज़ोन में पेट्रोल पंप दवाई दुकान अस्पताल किराना स्टोर्स सब्ज़ी मार्केट संख्या में मौजुद हैं। लॉकडाउन को लेकर सख़्त जिला प्रशासन को नागरिकों का सहयोग मिल रहा है, वहीं इस ज़ोन के हिसाब से शहर को बाँटने के बाद यह क़वायद है कि, नागरिक जिन जरुरी सामानों के लिए सुरक्षा सावधानी का पालन करते हुए निकले तो वो दूसरे ज़ोन में ना जाए।


48वार्डों वाले इस संभाग मुख्यालय अंबिकापुर को 6 ज़ोन में बाँटा गया है।जोन एक में वार्ड नंबर वार्ड नंबर 1 से दस और सोलह नंबर वार्ड है, ज़ोन दो में वार्ड क्रमांक 15,17,18,19,26,27,28,29,30 और वार्ड क्रमांक 36 36 शामिल हैं, जबकि ज़ोन 3 में वार्ड क्रमांक 13,31,32,33,34,37,38,39,42,43,45 शामिल हैं। ज़ोन चार में वार्ड क्रमांक 20,21,22,23,40,41 शामिल हैं। ज़ोन क्रमांक पाँच में वार्ड नंबर 11,12,48 शामिल हैं जबकि ज़ोन क्रमांक 6 में वार्ड क्रमांक 11,12 48 वार्ड शामिल हैं।

कलेक्टर सरगुजा सारांश मित्तर ने NPG से कहा
“हमने शहर को 6 ज़ोनों में बाँटा है,और इन सभी ज़ोन में दवाई दुकानें सब्ज़ी दुकाने किराना सामान पेट्रोल पंप मौजुद हैं। हम अब एक ज़ोन वाले नागरिक को दूसरे ज़ोन में जाने से रोकेंगे, व्यक्ति जिन चीजों के लिए निकलता है वह जब उसके ज़ोन में मौजुद हैं तो उसे दूसरे ज़ोन में जाने की कोई जरुरत नही है। इसका सख़्ती से पालन होगा”

 

कलेक्टर सारांश ने कहा
“यह सावधान रहने का समय है, हमने पाया कि लोग एक जैसा ही बहाना कर पूरे शहर का अकेले ही चक्कर लगाते थे..अब हम प्रभावी तरीक़े से इसे रोकेंगे क्योंकि ज़ोन तय करने के बाद हर ज़ोन में वो सब मौजूद है जिसके लिए नागरिक लॉकडाउन में बाहर निकलता है”

Spread the love