केंद्रीय मंत्री रेणुका सिंह को करारा झटका, सूरजपुर में कांग्रेस का जलवा बरकरार.. भाजपा 6 पर सिमटी.. विधायक खेलसाय सिंह की बहू और भतीजी ने किया सियासत में पदार्पण

सूरजपुर,4 फ़रवरी 2020। सूरजपुर में कांग्रेस ने अपना क़ब्ज़ा बरकरार रखा है। भाजपा के लिहाज़ से परिणाम ख़राब है क्योंकि पिछली बार के आँकड़े से भी कम पर भाजपा आ गई है। सूरजपुर कद्दावर भाजपा नेत्री और मौजूदा समय में केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह का गृह ज़िला है।
केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह के लिए हालाँकि उनके अपने गृहक्षेत्र से करारा झटका लगा है। रेणुका सिंह के गृहक्षेत्र रामानुजनगर ब्लॉक में तीन ज़िला पंचायत क्षेत्र हैं और तीनों पर कांग्रेस ने क़ब्ज़ा कर लिया है। इस इलाक़े से विधायक खेलसाय सिंह ने अपनी बहू और भतीजी शशि सिंह को ज़िला पंचायत के ज़रिए सियासत में दाखिल करा दिया है।
सूरजपुर ज़िला पंचायत में 15 सीटें हैं, इनमें मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह के विधानसभा प्रतापपुर में तीन सीटें थीं, तीनों पर कांग्रेस जीत गई है। पूर्व गृह मंत्री रामसेवक पैकरा के पुत्र लवकेश पैकरा उन नौनिहालों में शामिल नाम है जो सियासत की डगर ज़िला पंचायत के ज़रिए पर आ गए हैं। क़द्दावर आदिवासी नेता और पूर्व भाजपा प्रदेशाध्यक्ष स्व शिवप्रताप सिंह के पुत्र विजय प्रताप सिंह ने ओड़गी से जीत का सिलसिला क़ायम रखा है।
सूरजपुर के ज़िला पंचायत अध्यक्ष रहे अशोक जगते और भाजपा के उपाध्यक्ष गिरीश गुप्ता दोनों को इस बार जनता ने चुनाव में घर की राह दिखाई है।
अब जो आंकडे सामने आए हैं उनमें 15 में से 9 पर कांग्रेस ने क़ब्ज़ा किया है, जबकि भाजपा को 6 सीटों पर संतोष करना पड़ा है। पिछली बार के आंकडे देखें तो कांग्रेस को एक सीट का फ़ायदा जबकि भाजपा को एक सीट का नुक़सान हुआ है।

Spread the love