हल में बैलों की जगह लगी थीं दो लड़कियां, दुर्दशा देख पसीजा सोनू सूद का दिल, भेजा दिया ट्रैक्टर

मुंबई 27 जुलाई 2020. फिल्म अभिनेता सोनू सूद एक बार फिर अपनी दरियादिली से लोगों के दिलों में छा गए। इंटरनेट पर वायरल हो रहे एक वीडियो में आंध्र प्रदेश के चितूर की दो गरीब लड़कियों को अपने कंधों पर हल लेकर खेत जोतते देख उनका दिल पसीज उठा। यह देख उन्होंने फौरन परिवार को एक जोड़ा बैल भेजने का निर्णय लिया। बाद में उन्होंने तय किया कि बैल के बजाए ट्रैक्टर दिया जाना चाहिए। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि ट्रैक्टर शाम तक उनके घर पहुंच जाएगा। ट्रैक्टर मिलने पर परिवार बेहद खुश है। गरीब किसान लड़कियों की मदद पर सोशल मीडिया में लोग सोनू सूद की जमकर तारीफ कर रहे हैं।

आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख एन चंद्रबाबू नायडू ने बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद के आंध्र प्रदेश के चित्तूर में एक किसान को ट्रैक्टर भेजने के प्रयास की सराहना की। नायडू ने रविवार की शाम को ट्विटर पर जरूरतमंद लोगों की मदद के लिए सूद के प्रयास की सराहना की।

टमाटर के किसान नागेश्वर राव की दुर्दशा तब सुर्खियों में आई जब उनकी दो बेटियों के साथ जमीन की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुई। वे अपने कंधों पर हल उठाए दिखीं। सूद ने उन्हें एक जोड़ी बैल देने का वादा किया, लेकिन बाद में कहा कि परिवार एक ट्रैक्टर के लायक है। सूद ने ट्वीट किया कि ‘आपको शनिवार शाम तक खेत की जुताई के लिए ट्रैक्टर भेज रहा हूं। खुश रहिए।’ कोरोना कारण काम ठप्प होने से पहले नागेश्वर राव चाय का स्टाल चलाते थे। कोरोना के कारण लॉकडाउन में वह अपने गांव लौट आए और अपनी आजीविका के लिए खेती करने के लिए मजबूर हो गए थे।

इसके बाद आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने रविवार को घोषणा की कि वह राव की दो बेटियों की शिक्षा का ख्याल रखेंगे और उन्हें “उनके सपनों को पूरा करने में उनकी मदद करेंगे। नायडू ने ट्वीट किया- “सोनू सूद जी के साथ बात की और चित्तूर जिले में नागेश्वर राव के परिवार के लिए एक ट्रैक्टर भेजने के उनके प्रेरक प्रयास के लिए उनकी सराहना की। नायडू का लिखा, परिवार की दुर्दशा को देखते हुए मैंने दोनों बेटियों की शिक्षा का ध्यान रखने और उनके सपनों को आगे बढ़ाने में मदद करने का फैसला किया है। फिल्मों में अपनी नकारात्मक भूमिकाओं के लिए जाने जाने वाले सूद कोविड -19 महामारी के बीच अपने परोपकार के कारण एक रियल लाइफ हीरो माने जा रहे हैं।

Spread the love