CAB मसले में ट्वीटर पर आमने-सामने हुए दो पूर्व IAS ….हर्षमंदर बोले- CAB पास हुआ तो मुसलमान बन जाऊंगा…..ओपी ने कहा- भारत में बन जायेंगे तो कोई दिक्कत नहीं पाकिस्तान-अफगानिस्तान में अल्पसंख्यक होते तो ….

रायपुर 10 दिसंबर 2019। देश भर में नागरिक संशोधन बिल को लेकर CAB और NRC पर बवाल मचा हुआ है। पूर्वोत्तर में लगातार उपद्रव व प्रदर्शन की खबरें आ रही है, तो वहीं संविधान विश्लेषकों व राजनीतिक दलों के नेताओं के बीच भी प्रतिक्रियाओं का दौर जारी है। इसी कड़ी में देश के चर्चित ब्यूरोक्रेट और छत्तीसगढ़ कैडर के पूर्व आईएएस हर्षमंदर और छत्तीसगढ़ के पूर्व IAS ओपी चौधरी ट्वीटर पर आमने सामने आ गये हैं। हर्षमंदर ने ट्वीट कर कहा है कि अगर CAB पास हुआ तो वो मुस्लिम बन जायेंगे। उन्होंने ट्वीट कर बिल पर कटाक्ष करते हुए लिखा है कि अगर CAB पास हुआ तो वो अधिकारिक रूप से खुद को मुस्लिम बतायेंगे और NRC का कोई भी दस्तावेज भी नहीं जमा करायेंगे। उन्होंने इस एवज में उन्हें जो सजा दी जायेगी, उसे भी वो स्वीकार करेंगे।

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

हर्षमंदर के इस तंज का ओपी चौधरी ने करारा जवाब दिया है। सर शब्द से संबोधित करते हुए ओपी ने लिखा है कि भारत में अगर वो मुस्लिम धर्म अपना भी लें तो उनके साथ कोई प्रताड़ना का सवाल ही नहीं उठता, लेकिन यही अगर वो पाकिस्तान व अफगानिस्तान में कर रहे होते, तो जरूर प्रताड़ितो होना पड़ता।

इन दो पूर्व IAS अफसरों का ट्वीटर पर वार-पलटवार छत्तीसगढ़ में खूब चर्चिंत हो रहा है। लोग इस पर ट्वीट और रिट्वीट भी कर रहे हैं।

कौन हैं पूर्व नौकरशाह हर्षमंदर 

1955 में जन्में हर्ष मंदर सिंह 1980 में आईएएस बने थे. आईएएस सेवा से जुड़ने के बाद उन्होंने अपने नाम से सिंह हटा लिया था ताकि वे किसी एक ख़ास जाति के न लगें. हर्ष मंदर करीब दो दशक तक आईएएस रहे. इस दौरान वे मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के अलग-अलग हिस्सों में तैनात रहे. कहा जाता है कि 1989 में नर्मदा बचाओ आंदोलन के दौरान उन्होंने मेधा पाटकर और बाबा आम्टे के शांतिपूर्ण प्रदर्शन को रोकने से इंकार कर दिया था. साल 1990 में उन्होंने मध्यप्रदेश के रायगढ़ जिले में एक ताकतवर भाजपा नेता की दो हजार एकड़ जमीन गरीबों में बांट दी थी. इस दौरान हर्ष मंदर का 22 से ज्यादा बार ट्रांस्फर किया गया. हर्षमंदर बिलासपुर के कमिश्नर भी रहे थे। इससे पहले वो रायगढ़ के कलेक्टर भी रह चुके थे।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.