SP दफ्तर परिसर में ट्रिपल तलाक पीड़िता ने खाया ज़हर….. शिक्षक पति के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने की शिकायत लेकर पहुंची थी पीड़िता…पुलिस ने अपनी गाड़ी से पहुंचाया हॉस्पीटल, शिक्षक पति अरेस्ट

विजय कुमार सिंह @newpowergame.com

वाट्सएप पर अपडेट पाने के लिए कृपया क्लीक करे

कोरबा 26 नवंबर 2019। कोरबा से एक बड़ी खबर आ रही है। ट्रिपल तलाक पीड़िता एक महिला ने एसपी दफ्तर के बाहर खुदकुशी की कोशिश की है। महिला का नाम आयशा खातून है और उसका आरोप था कि ट्रिपल तलाक मामले में पुलिस उसके पति के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। हालांकि खबर है कि महिला की खुदकुशी की कोशिश जैसे ही सामने आयी पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस ने ट्रिपल तलाक की पीड़िता के पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक आयशा खातून और उसके पति के बीच विवाद की सुनवाई कोर्ट में चल रहा था। एक दिन जब सुनवाई के लिए दोनों कोर्ट परिसर पहुंचे थे, तो उसके पति ने वहीं उसे तीन बार तलाक बोलकर तलाक दे दिया। इस मामले की शिकायत आयशा ने थाने में की थी। कार्रवाई नहीं होते देख, महिला ने एसपी दफ्तर पहुंचकर शिकायत की। एसपी की गैरमौजूदगी में महिला ने एडिश्नल एसपी से मुलाकात की और फिर अचानक से बाहर निकलकर परिसर में ही जहर खाकर खुदकुशी की कोशिश की। महिला को जहर खाते देख पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया, आनन-फानन में महिला को पुलिस गाड़ी से ही अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है।

बताया जा रहा है कि महिला मध्यप्रदेश के सतना की रहने वाली है. करीब 10 साल पहले उसका निकाह कोरबा के पथर्रीपारा निवासी मो. शेख़ नियाज़ से हुआ था। उसका पति पोड़ी-उपरोड़ा ब्लॉक के मदनपुर शासकीय स्कूल में शिक्षक है। जानकारी के मुताबिक महिला ने दहेज प्रताड़ना का मामला पति पर दर्ज कराया था, जिसमें पति के पक्ष में कोर्ट ने फैसला सुनाया था। इसी दौरान एक दिन में कोर्ट में पति-पत्नी में विवाद हुआ और पति ने ट्रिपल तलाक दे दिया था। इसी प्रकरण में वो लगातार पति पर कार्रवाई की मांग कर रही थी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.