शराब में टल्ली डाक्टर बोला- …मैं तो मुर्दे में भी जान डाल दूंगा…..15 मिनट में किसी तरह कुर्सी से उठ सका, वार्ड पहुंचते-पहुंचते मरीज की हुई मौत…. नाराज परिजनों को बोला- जितना मारना है मार लो…पर बीबी को मत बताना…

दंतेवाड़ा 28 अगस्त 2020। शराब पीकर ड्यूटी में तैनात एक डाक्टर की वजह से एक मरीज की जान चली गयी। डाक्टर इस कदर नशे में धुत्त थे कि उन्हें अपनी कुर्सी से ही उठने में 15 मिनट से ज्यादा लग गये। घटना दंतेवाड़ा जिला अस्पताल की है और डाक्टर का नाम जे पात्रा है। जानकारी के मुताबिक कटेकल्याण निवासी अजमन ठाकुर की तबीयत बिगड़ने पर परिजन उन्हें गुरुवार को जिला अस्पताल लाये थे। इस दौरान कैजुएल्टी वार्ड में डॉ. जे. पात्रे की ड्यूटी थी। रात को अजमन ठाकुर की तबीयत ज्यादा बिगड़ी तो परिजनों ने डॉ. पात्रे को इसकी जानकरी दी। आरोप है कि इस दौरान डॉक्टर पात्रे ने शराब पी रखी थी। शराब के नशे में वो इस कदर धुत्त थे कि परिजनों ये कहकर वापस भेज दिया कि वो तो ऐसे डाक्टर हैं कि मुर्दे में भी जान डाल देते हैं।

 

परिजनों को 5 मिनट में आने की बात कही, लेकिन डाक्टर करीब 20 मिनट बाद वार्ड में पहुंचे, जिसमे से 15 मिनट तो उन्हें कुर्सी से ही उठने में लग गये। हालांकि तब तक मरीज की इलाज के अभाव में मौत हो गयी। अब मरीज को मरा देख डाक्टर के होश उड़ गये। इधर डाक्टर को नशे में धुत् देख परिजनों का गुस्सा भड़क गया, परिजन ने जब डाक्टर पर लापरवाही और शराब पीने को लेकर सवाल पूछना शुरू किया तो जवाब में डॉक्टर पात्रे ने कहा, थोड़ी देर पहले भी देखता तो कुछ नहीं कर सकता था। वह एक्सपायर कैसे हुए हैं, इस बारे में हमारे फॉरेंसिक एक्सपर्ट सलाह दे सकते हैं। अगर वो बोल देंगे कि डॉक्टर की गलती है तो जेल जाना पड़ेगा।

इधर परिजनों को गुस्सा होते देख डाक्टर वहां से भाग खड़ा हुआ। लोगों ने किसी तरह उन्हें ढूंढकर बाहर निकला। इस पर सर, मुझे जितना मारना है मार लीजिए, लेकिन घर पर वाइफ को मत बताइयेगा। वरना वाइफ आप लोगों से ज्यादा पिटाई कर देगी। फिलहाल पूरी घटना का वीडियो वायरल है। डाक्टर को फिलहाल कलेक्टर के निर्देश पर सस्पेंड कर दिया गया है।

Spread the love