आज ‘द्रोणाचार्य अवॉर्ड’ मिलना था….कुछ घंटे पहले ही एथलेटिक्स कोच की हो गयी मौत…. अवार्ड के लिए फुल एंड फाइनल ड्रेस रिहर्लसल में भी लिया था हिस्सा….अवार्ड सेरेमनी के कुछ घंटे पहले ही अचानक हो गयी मौत

नई दिल्ली 29 अगस्त 2020। एथेलेटिक्स कोच पुरुषोत्तम राय का शुक्रवार को निधन हो गया. उन्हें आज खेल दिवस पर वर्चुअल अवॉर्ड समारोह में द्रोणाचार्य अवॉर्ड मिलना था. आज उन्हें लाइफटाइम कैटेगरी में द्रोणाचार्य अवॉर्ड दिया जाना था. एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने जानकारी दी है कि पुरुषोत्तम राय ने 28 अगस्त की शाम को नेशनल स्पोर्ट्स अवॉर्ड की ड्रेस रिहर्सल में हिस्सा लिया था. राय 79 वर्ष थे और उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई.उन्होंने देश को कई बेहतरीन एथेलिट तैयार करके दिए. इनमें एमके आशआ, ईबी शयला, रोसा कुट्टी, अश्विन नचप्पा, मुरली कुट्टन,और जीजी परमिला जैसे खिलाड़ी शामिल हैं जिन्होंने अपने प्रदर्शन से देश का मान-सम्मान बढ़ाया ।
पुरुषोत्तम ने ओलिंपिक खिलाड़ी अश्विनी नचप्पा, मुरली कुट्टन, रोसा कुट्टी, प्रमिला अयप्पा, वंदना राव, जीजी परमिला और ईबी शयला समेत कई एथलीट्स को ट्रेनिंग दी है. कोच राय की ट्रेनिंग पाकर इस सभी खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया था और भारत का नाम विश्व मंच पर ऊंचा किया है. पुरुषोत्तम राय ने 1987 की वर्ल्ड एथलेटिक्स चैम्पियनशिप, 1999 के सैफ गेम्स और 1988 की एशियन ट्रैक एंड फील्ड चैंपियनशिप के लिए भारतीय एथलेटिक्स टीम को ट्रेनिंग दी थी.

 

पूर्व एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज उनकी मौत से काफी दुखी हैं, उन्होंने कहा कि वो काफी अच्छे कोच थे. उनकी ट्रेनिंग पाकर कई ओलिंपिक खिलाड़ी तैयार हुए. ‘द्रोणाचार्य अवॉर्ड’ मिलने से एक दिन पहले उनका गुजर जाना, वाकई तकलीफ पहुंचाने वाला है.

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने भी कोच पुरुषोत्तम राय के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है उन्होंने कहा कि इस घटना से पूरा एसोसिएशन दुखी है. उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी एथलेटिक्स को दी थी. हम उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं.

Spread the love