इस IPS ने ढेर कर दिया था खूंखार आतंकी कमांडर बुहरान वानी को……अब इस अदम्य साहस के लिए मिल रहा है राष्ट्रपति वीरता पदक…. 2008 बैच के इस अफसर के नाम साहस के हैं कई कीर्तिमान

हिजबुल कमांडर रहे बुरहान वानी को ढेर करने वाले बहादुर IPS अधिकारी को मिलेगा वीरता पुरस्कार

Spread the love

नयी दिल्ली 26 जनवरी 2020। हिजबुल मुजाहिदीन के खूंखार आतंकी बुरहान वानी को ढेर करने वाले भारतीय पुलिस सर्विस के जांबाज आधिकारी अब्दुल जब्बार को राष्ट्रपति वीरता पदक मिला है. जिस एनकाउंटर में बुरहान वानी ढेर हुआ, उस टीम को अब्दुल जब्बार लीड कर रहे थे. वो 2008 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी हैं। अब्दुल जब्बार को राष्ट्रपति द्वारा वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

बता दें कि एक खुफिया इनपुट पर तत्कालीन एसएसपी अनंतनाग अब्दुल जबर ने पुलिसकर्मियों की उस टीम का नेतृत्व किया था जिसने 8 जुलाई 2016 को कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय बुरहान बानी का एनकाउंटर किया था।

एक खुफिया इनपुट के आधार पर अब्दुल जब्बार एक पुलिस की टुकड़ी को अपने नेतृत्व में आगे ले गए और हिजबुल मुजाहिदीन के पोस्टर बॉय कहे जाने वाले बुरहान वानी को मुठभेड़ में ढेर कर दिया. उस वक्त अब्दुल जब्बार अनंतनाग के एसएसपी के पद पर तैनात थे. बुरहान वानी को पुलिस ने 8 जुलाई 2016 को एक मुठभेड़ में मार गिराया गया था।

गौरतलब है कि इस एनकाउंटर के बाद कश्मीर घाटी में 7 महीने से अधिक समय तक राज्य में हालात बेहद गंभीर थे। राज्य के हालात देखते हुए उस समय के पुलिस उप महानिरीक्षक (DIG) नीतीश कुमार के साथ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) अब्दुल जब्बार को जम्मू-कश्मीर से बाहर भेज दिया गया था। इस दौरान अब्दुल जब्बार बिहार के औरंगाबाद के हाजीपुर भेजा गया था।

Spread the love