इस IAS ने प्लाज्मा डोनेट करने वाले तबलीगी को बताया हीरो, राज्य सरकार ने जारी किया कारण बताओ नोटिस

बेंगलुरु 2 मई 2020. पीएम नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की जांच करने के लिए सस्पेंड होने की वजह से चर्चा में आए कर्नाटक के IAS अधिकारी मोहम्मद मोहसिन को राज्य सरकार ने उनके एक ट्वीट को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है।  दरअसल मोहसिन ने ट्वीट किया था- केवल दिल्ली में 300 से अधिक ‘तब्लीगी हीरो’ देश की सेवा के लिए प्लाज्मा दान कर रहे हैं। लेकिन ‘गोदी मीडिया’ इन हीरो के मानवता कार्य को नहीं दिखाएगा।

असल में, आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने प्लाज्मा डोनेट करने वाले तबलीगी जमात के सदस्यों को लेकर ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने तबलीगी सदस्यों को हीरो बताया है।मोहम्मद मोहसिन ने लिखा था, ‘तबलीगी जमात के 300 से ज्यादा लोगों ने प्लाज्मा डोनेट किया। मीडिया कहां है? ये लोग इन हीरो की कहानियां नहीं दिखाएंगे, जिन्होंने मानवता का काम किया है।

notic_050220115929.jpg

बता दें कि तबलीगी जमात उस समय चर्चा में आया जब सरकार के निर्देशों के उलट दिल्ली के निजामुद्दीन के मरकज में धार्मिक जमावड़ा हुआ और इसमें शामिल कई लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।

जानकारी के मुताबिक, 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन पटना के रहने वाले हैं। वो कर्नाटक कैडर से आईएएस अधिकारी चुने गए। उन्होंने पटना यूनिवर्सिटी से एम.कॉम की पढ़ाई की है। इसके बाद साल 1994 में वो यूपीएससी सिविल सर्विसेज की पढ़ाई के दिल्ली आ गए थे। मोहम्मद मोहसिन 1996 बैच में आईएएस अधिकारी बनने में सफल हुए। उन्होंने कर्नाटक सरकार के शिक्षा विभाग समेत कई दूसरे विभागों में प्रशासनिक पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

Spread the love