सुबह महापौर पर सस्पेंस होगा खत्म : राजधानी सहित चार निगमों में कल चुने जायेंगे मेयर व सभापति… राजधानी में सुबह 8 बजे कांग्रेस पार्षद कांग्रेस भवन में जुटेंगे….रायगढ़ के उड़ीसा से, तो दुर्ग के पार्षद सुबह होंगे रवाना… क्रास वोटिंग के मद्देनजर उड़े सियासी दलों के होश

रायपुर 5 जनवरी 2020। महापौर पद के लिए सस्पेंस बढ़ता ही जा रहा है। कल राजधानी रायपुर सहित चार नगर निगमों के लिए महापौर व सभापति पद का चुनाव होगा। भाजपा और कांग्रेस दोनों ने चुनाव के पहले अपने पत्ते नहीं खोले हैं। माना जा रहा है कि सुबह 10 बजे तक चारों निगमों में भाजपा और कांग्रेस अपने-अपने प्रत्याशी के नाम ओपन करेंगे।

इधर क्रास वोटिंग के चांस के मद्देनजर सभी दलों ने अपने अपने पार्षदों को बचाकर रखा है। राजधानी के पार्षद धमतरी के गंगरेल रिसोर्ट में हैं, जहां से वो देर रात या तड़के रायपुर आयेंगे। रायगढ़ के पार्षद उड़ीसा से देर रात लौंटेंगे, तो वहीं दुर्ग के कांग्रेस पार्षद राजधानी के होटल से सुबह लौटेंगे।

कल राजधानी रायपुर के अलावे, दुर्ग, रायगढ़ और चिरमिरी नगर निगमों में मेयर और सभापति का चयन किया जाना है। हालांकि किस निगम में कौन महापौर होगा, ये नाम सार्वजनिक नहीं हुए हैं, लेकिन पर्यवेक्षकों को संकेत जरूर दे दिये गये हैं। इधर राजधानी में आज दोपहर बाद फिर से दावेदारों के नाम पर चर्चा हुई। सीएम हाउस में प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम और राजधानी के पर्यवेक्षक बैजनाथ चंद्राकर ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर नामों पर चर्चा की।

इससे पहले शनिवार को बिलासपुर और जगदलपुर में कांग्रेस का महापौर चुन लिया गया। हैरानी की बात तो ये रही कि बिलासपुर में बीजेपी ने कांग्रेस को वाकओवर दे दिया, उन्होंने चुनाव प्रक्रिया में हिस्सा ही नहीं लिया।

अंबिकापुर, जगदलपुर, चिरमिरी में कांग्रेस को पूर्ण बहुमत है, वहीं रायपुर में दो पार्षद चाहिये थे, शनिवार को राजधानी के छह निर्दलीय पार्षदों ने कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान कर दिया, लिहाजा कांग्रेस का महापौर बनना तो तय है, लेकिन बनेगा कौन ? इस पर सस्पेंस बना हुआ है। माना जा रहा है कि चार नाम प्रमुखता से चल रहे हैं। मौजूदा महापौर प्रमोद दुबे के अलावे श्रीकुमार मेनन, अजीत कुकरेजा, एजाज ढेबर व ज्ञानेश शर्मा में से ही कोई एक महापौर बनेगा।

Spread the love