npg

हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेजः प्रभारी मंत्री सिंहदेव की गैर मौजूदगी पर बोले सीएम भूपेश…जब मुख्यमंत्री मौजूद हैं तो प्रभारी मंत्री की क्या जरूरत

बेमेतरा, 3 अक्टूबर 2021। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कहा कि पहले हर लोकसभा क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज खोलने की योजना थी। मगर लोगों की मांग और जरूरतों को देखते अब हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। रविवार को स्थानीय सर्किट हाउस में मीडिया से बात करते हुए डॉक्टरों की कमी के संदर्भ में […]

Spread the love

हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेजः प्रभारी मंत्री सिंहदेव की गैर मौजूदगी पर बोले सीएम भूपेश…जब मुख्यमंत्री मौजूद हैं तो प्रभारी मंत्री की क्या जरूरत
X

बेमेतरा, 3 अक्टूबर 2021। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कहा कि पहले हर लोकसभा क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज खोलने की योजना थी। मगर लोगों की मांग और जरूरतों को देखते अब हर जिले में मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा।
रविवार को स्थानीय सर्किट हाउस में मीडिया से बात करते हुए डॉक्टरों की कमी के संदर्भ में कहा कि डॉक्टरों की कमी पूरे राज्य में जरूर बनी हुई है। 7000 व्यक्तियों के पीछे एक डॉक्टर है इसीलिए राज्य सरकार पहले लोकसभा स्तर पर मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी थी मगर मांग बढ़ती गई और मेडिकल कॉलेज कोरबा कांकेर महासमुंद एवं चंदूलाल चंद्राकार हॉस्पिटल में मेडिकल कॉलेज खोले गए हैं। बेमेतरा में भी मेडिकल कॉलेज खोलने की तैयारी है तथा जांजगीर लोकसभा में भी मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। सरकार की मंशा है कि हर जिले में मेडिकल कालेज खुले।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिले में रोजगार के लिए उद्योग धंधे के लिए उद्योग स्थापना पर जोर देते कहा की उद्योग स्थापना हो ताकि किसानों को रोजी-रोटी के लिए बाहर जाना ना पड़े फैक्ट्री स्थानीय स्तर पर लग जाने से रोजगार के पर्याप्त अवसर मिलेंगे।

पत्रकारों द्वारा बेमेतरा के प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव के कार्यक्रम में गैर मौजूदगी के बारे में पूछे जाने पर सीएम भूपेश ने कहा कि जब मुख्यमंत्री हैं तो प्रभारी मंत्री की क्या जरूरत।

पत्रकार वार्ता में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, जल संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे, स्थानीय विधायक आशीष छाबड़ा एवं जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बंसीलाल पटेल उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने बताया शीघ्र ही एथेनॉल प्लांट की स्थापना होगी, जिसमें 2 प्लांट की स्वीकृति बेमेतरा जिले में दी गई है। कृषि कानून के संबंध में केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सभी मंडियों को बंद कर दी गई है इसके कारण किसानों को अपनी उपज को बेचने के लिए भटकना पड़ रहा है। और अब अनाज स्टाक की लिमिट भी समाप्त कर दी गई है जिसके चलते कोई भी व्यापारी जरूरत से ज्यादा अनाज का स्टॉक कर सकता है।

उन्होंने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि जिले में रात रुक कर मैं सभी तरह के समाज के लोगों से मुलाकात कर जानकारी हासिल किया हूं कि सरकार की योजनाओं का लाभ जन-जन तक पहुंच रहा है कि नहीं आम जनता के विभिन्न वर्गों से मुलाकात हुई। पत्रकारों के द्वारा पूछे गए सवाल पुलिस के संरक्षण में अवैध तौर पर बिक रहे शराब के मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि इस पर रोक लगाने के निर्देश पुलिस को दिए गए हैं।

Next Story