पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर देशभर में होगा बड़ा आंदोलन… – वीरेंद्र दुबे- जब एक दिन या अल्प समय के सांसद, विधायक को पेंशन मिल सकता है तो कर्मचारियों-अधिकारियों को क्यों नहीं..

रायपुर 3 फरवरी 2021. पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर देशभर में चल रहा कर्मचारियों का संघर्ष अब बढ़ता ही जा रहा है। राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के बैनर तले देशभर के कर्मचारी-अधिकारी एकजुट होकर विभिन्न तरीकों से पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग करते आ रहे हैं।
राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय महासचिव वीरेंद्र दुबे ने बताया कि छत्तीसगढ़ में भी पुरानी पेंशन बहाली का आंदोलन और तेज होगा। केंद्र सरकार को शीघ्र ही नई पेंशन नीति को समाप्त कर पुरानी पेंशन बहाली करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब एक दिन के सांसद, विधायक आदि को पुरानी पेंशन मिल सकता है तो लंबे अरसे तक शासन की विभिन्न विभागों में सेवा देने वाले कर्मचारियों व अधिकारियों को पुरानी पेंशन क्यों नही मिल सकता। पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर अब देशभर के कर्मचारी-अधिकारी एकजुट हो गए हैं।
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीपी सिंह रावत के नेतृत्व व मार्गदर्शन में बीते सालभर में कर्मचारियों द्वारा विभिन्न माध्यमों से पुरानी पेंशन बहाली किए जाने की मांग सरकार से की जा चुकी है। आने वाले समय में देशभर में बड़ा आंदोलन होगा। इसके लिए देश के विभिन्न स्थानों में सभा व कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जिसमें बड़ी संख्या में कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली को लेकर अपनी आवाज बुलंद कर रहे हैं। हाल ही में उत्तराखंड राज्य के रामलीला मैदान पौड़ी में जंगी रैली के साथ एक बड़ी सभा का आयोजन का हुआ। इसमें राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीपी सिंह रावत मुख्य अतिथि व राष्ट्रीय महासचिव वीरेंद्र दुबे विशिष्ट अतिथि के रूप में शामिल हुए। इनके अलावा छत्तीसगढ़ से वीरेंद्र दुबे के साथ विष्णु शर्मा, जम्मू कश्मीर से गुलज़बीर, तेलंगाना से डॉक्टर पुषोत्तम, उत्तराखंड से मिलिंद बिस्ट, सीताराम पोखरियाल, मेहरबान सिंह, भगवान सिंह नेगी,अनिल कुमार, गौरी नथानी श्रीनगर, हैदराबाद से बालचंद्र बतौर विशिष्ट अतिथि शामिल हुए।

Spread the love