इस दो ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने निर्विरोध चुना पंच और सरपंच… जिले के साथ साथ प्रदेश के लिए बना मिशाल…

धमतरी 3 जनवरी 2019. जिले के नगरी तहसील में ग्राम पंचायत फरसिया और मोदे दो ऐसे ग्राम पंचायत है जहाँ के ग्रामीणों ने सर्व सम्मति से अपने गॉव में सरपंच और पंच बॉडी का निर्विरोध चयन किया है. हाला की दोनों गॉव के निर्विरोध रूप से बने सरपंच और पंच ने प्रक्रिया पूर्वक नगरी जनपत पंचायत में पहुँचकर अपना नामांकन दाखिल कर दिया है.

आपको बता दे की ग्राम पंचायत फरसिया इलाके के बड़े ग्राम पंचायत में से एक है. जहाँ महामाया माता रानी भी विराजमान है. जिसके दर्शन के लिए दूर दराज से भी लोग यहाँ पहुँचते है. जिसके चलते भी फरसिया काफी जाना पहचाना गाव है. बीते विधानसभा चुनाव के समय प्रत्यासी घोषणा के पहले देश के केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी यहाँ पहुँचकर माता महामाया का दर्शन किया था. ग्रामीणों की माने तो इस गाव में पहली मरतबा ऐसा हुआ है कि सारे के सारे पंचायत बॉडी यह निर्विरोध चुना गया है. वहीँ दूसरी तरफ ग्राम मोदे जो पहले ग्राम पंचायत छिपली का आश्रित ग्राम था. लेकिन ग्रामीणों की मांग पर ग्राम मोदे को पहली बार इसी वर्ष ग्राम पंचायत का दर्जा मिला और ग्रामीणों ने निर्विरोध सरपंच और पंच चुनकर कमाल कर दिया जिसकी काफी सराहना हो रही है. मोदे के ग्रामीणों की माने तो गाव में पहले सरपंच पद के लिए कुल 4 उम्मीदवार तैयार हुए थे.

लेकिन ग्राम व्यवस्था समिति द्वारा अपने स्तर पर चारों प्रत्यासी के वोटिंग करवाया गया जिसमे सबसे ज्यादा वोट मिथलेश श्रीमाली को मिला और उसे ही सर्व सहमति से सरपंच चुना गया…और बाकि 10 वार्डो के लिए आरक्षण अनुसार निर्विरोध पंच चुना गया. इधर ग्राम पंचायत फरसिया में सर्व सहमति से सुषमा तारम को सरपंच और शिवदयाल साहू को उपसरपंच चुना गया. मतलब की सरपंच समेत कुल 19 पंचायत बॉडी को निर्विरोध चुना गया. इलाके दोनों ग्राम पंचायत की इस फैसले का खूब सरहाना हो रही है. की आज के समय में कैसे ग्रामीणों ने शांति और एकजुटता का परिचय दिया है. जो इलाके के साथ साथ पुरे जिले और प्रदेश के लिए मिशाल पेश किया है.

Spread the love