IG सरगुजा डांगी की सख़्त कार्यवाही चिरमिरी और खड़गंवा थानों के 31 कर्मचारी लाईन अटैच,पाँच दस साल से जमे थे पुलिसकर्मी

अंबिकापुर,15 फ़रवरी 2020। रेंज के कुछ ईलाके ऐसे हैं जहां के थानों में कैलेंडर बदलते हैं लेकिन स्टाफ़ नहीं बदलता। रेंज IG रतनलाल डांगी की नजर ऐसे थानों और वहाँ मौजुद स्टाफ़ पर जम गई है, और जैसा कि होना चाहिए ऐसे स्थाई कर्मचारियों को थानों से विदा कर दिया गया है।
दो दिन पहले IG सरगुजा रायपुर से लौटते हुए कोरिया ज़िले के खड़गंवा और चिरमिरी थाने पहुँच गए। काले हीरे की नगरी कोयलांचल के नाम से मशहूर इस इलाक़े में पुलिस कई वजहों से निशाने पर रहती है, हालाँकि समय समय पर कार्यवाही के ब्यौरे पुलिस को सक्रिय दिखाते हैं। मगर IG सरगुजा के इस दौरे में वह मसला सामने आया जिस पर किसी का ध्यान ही नहीं था। ASI,प्रधान आरक्षक और आरक्षकों की एक संख्या ऐसी भी थीं जिनका लंबे अरसे से ट्रांसफ़र ही नही हुआ था। चिरमिरी और खड़गंवा थाने में ही 31 ऐसे कर्मचारियों की संख्या पाई गई जिनकी पदस्थापना को पाँच से दस साल हो गए थे।
I.G. सरगुजा रतन लाल डाँगी ने इन सभी 31 कर्मचारियों को पुलिस लाईन रवानगी के आदेश दिए।IG सरगुजा रतन डांगी ने NPG से कहा
“मुझे सूचना मिल रही है कि, ऐसे कई थाने हैं जहां स्टाफ़ लंबे अरसे से जमा हुआ है, बेहतर पुलिसिंग के लिए यह सही नहीं है, रोटेशन होना चाहिए, एक व्यक्ति लंबे समय तक कहीं रहेगा तो उसकी कार्यप्रणाली में स्वाभाविक रुप से प्रश्न उठेंगे, चिरमिरी खड़गंवा जैसे थानों में हुई कार्यवाही आगे भी जारी रहेगी”

Spread the love