जिंदल के पुष्पों की छटा बिखरनी शुरू, फाउंटेन द्वारा अपने उत्कृष्ट चरम पर होगा गांधी उद्यान…

रायपुर 9 जनवरी 2020। आगामी 11,12 एवं 13 जनवरी को आप पुष्प प्रदर्शनी का आनंद ले पाएंगे गांधी उद्यान में। जिंदल एवं अन्य संस्थाओं के सहयोग से होने वाली पुष्प प्रदर्शनी का आगाज 11 जनवरी 2020 को गांधी उद्यान में होने जा रहा है गांधी उद्यान में फाउंटेन भी अपनी सौंदर्य के साथ इस आतुर  जन सैलाब में प्रदर्शित होगा। नगर निगम रायपुर प्रकृति की ओर सो साइट ई तथा कृषि महाविद्यालय के साथ जिंदल की पुष्प प्रदर्शनी अपने छटा बिखेरने
को गांधी उद्यान में आगामी 11 जनवरी से  प्रकृति प्रेमी  लोगों  को उपलब्ध रहेगी।
इसका सीधा तात्पर्य यह लिया जा सकता है कि रंग बिरंगे फूलों के साथ गांधी उद्यान में बच्चों की किलकारियां और अति मोहक जन सैलाब इस प्राकृतिक छटा को अपने में समाहित करने और उसका लुत्फ उठाने के लिए बहुत ही जल्दी आपके शहर के गांधी उद्यान में देखा जा सकेगा। आप सभी इस भव्य आयोजन को प्रति वर्ष अनुसार इस वर्ष भी गांधी उद्यान को उद्यानिकी या उद्यान के वास्तविक स्वरूप में शीघ्र ही देख पाएंगे यहां जन सैलाब का अंदाजा भली-भांति लगाया जा सकता है। इसमें प्रत्येक वर्ग का व्यक्ति यहां उद्घाटन से समापन तक तृप्ति तक अपनी भरपूर आनंद दाई वास्तविकता को समायोजित करते देखा जा सकता है। इस समय का इंतजार पूरा शहर का लगभग प्रत्येक वर्ग अति आतुरता से करता है और इसकी पूछ परख लगभग 2 माह पहले ही चालू हो चुकी होती है।
इस आयोजन के संदर्भ में बग्गा जी से कभी भी इस बारे में पूछने पर वे अति आधारित हो जाते हैं डॉ दल्ला इसके आधारभूत स्तंभ रहे हैं, उनकी इस प्रकृति की ओर सोसाइटी के प्रत्येक सदस्य, जो इस कार्य को करने के लिए अपनी अथक मेहनत के साथ लोगों के बीच आती है। इससे हर प्रत्येक जुड़ा हुआ व्यक्ति अभिभूत है चाहे नगर निगम का समूह बोले या कृषि विश्वविद्यालय अपने अनुसार करते ही हैं। हाँ, जिंदल स्टील की तैयारी तो सर आंखों पर होती है। उनकी तैयारी इस विशेष प्रस्तुति से ही लगाई जा सकती है । उनका यह अभिनव स्वरूप इसी समय गांधी उद्यान में दिखाई पड़ती है प्रकृति का जिंदल स्टील से बहुत गहरा रिश्ता दिखाई देता है प्रकृति के प्रति इनकी चेतना इनकी समझ किसी से छुपी हुई नहीं है।
इस वर्ष जिंदल लगभग 6500 गमलों के साथ 50 वैरायटी के पुष्प की प्रदर्शनी करेगा कई तरह की  प्राकृतिक रूप से आई हुई विपरीत परिस्थितियों का भी जिक्र किय इस विषय पर टंडन जी ने कहा कि बारिश होने तथा कम ठंड पड़ने के कारण फूलों की तैयारी में कुछ बाधा अवश्य आई है। लेकिन उस बाधा से उबर कर हमारे हमने अपनी तैयारी की है और होने वाले पुष्प प्रदर्शनी में हम लगभग 6500 गमले के साथ और 50 तरह की वैराईटी लेकर इस वर्ष भी रहेंगे।
Spread the love