शिक्षाकर्मियों को फिर पड़े वेतन के लाले, अगस्त माह के वेतन का नहीं हुआ भुगतान… संविलियन अधिकार मंच ने मुख्यमंत्री से किया निवेदन – वेतन की समस्या का करें निदान

 रायपुर 26 सितंबर 2020। प्रदेश में शिक्षाकर्मियों के वेतन की समस्या कोई नई नहीं है सरकार के तमाम प्रयासों के बाद भी शिक्षाकर्मियों को नियमित तौर पर वेतन भुगतान नहीं हो पा रहा है । कई बार राज्य कार्यालय से आंबटन जारी होने के बावजूद निचले कार्यालय वेतन भुगतान में कोताही बरत दे रहे हैं तो कई बार राज्य कार्यालय से ही वेतन में लेटलतीफी हो जा रही है और इस सब का खामियाजा कुल मिलाकर शिक्षाकर्मियों को भुगतना पड़ रहा है । प्रदेश के बहुत से ब्लॉक ऐसे हैं जहां पर शिक्षाकर्मियों को अगस्त माह तक का वेतन भुगतान नहीं हुआ है एकाध में तो जून और जुलाई का भी लंबित है ऐसे में अपने वेतन की राह देख रहे शिक्षाकर्मियों में हताशा के साथ नाराजगी है अब जब सितंबर माह खत्म होने जा रहा है तो शिक्षाकर्मियों का भी सब्र जवाब देने लगा है और मजबूरन उन्होंने प्रदेश के मुखिया को ट्वीट करके अपनी समस्या से अवगत कराया है । संविलियन से वंचित शिक्षाकर्मियों की अगुवाई करने वाले अधिकार मंच के प्रदेश संयोजक विवेक दुबे ने पूरे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों से जानकारी जुटाकर मुख्यमंत्री, पंचायत मंत्री, स्कूल शिक्षा मंत्री, नगरीय प्रशासन मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष को ट्वीट किया है और उनसे वेतन भुगतान के लिए गुहार लगाई है गौरतलब है कि इससे पहले भी जब-जब वेतन की समस्या उत्पन्न हुई है तब मजबूरन शिक्षा कर्मियों को ट्वीट करना पड़ा है और तब जाकर समस्या का कुछ हद तक निदान हो पाया है बावजूद इसके स्थानीय अधिकारी अभी भी लापरवाही बरत रहे हैं और कई निकाय में तो आबंटन जारी होने के बावजूद वेतन भुगतान नहीं किया गया है ।

राज्य सरकार से लगाई है गुहार, इंसाफ की है दरकार – विवेक दुबे

प्रदेश में शिक्षाकर्मियों को कभी भी समय पर वेतन नहीं मिलता और यह बात कोई नई नहीं है । अभी भी बहुत सारे ब्लॉक ऐसे हैं जिसमें अगस्त माह तक का वेतन भुगतान नहीं हुआ है जबकि सितंबर समाप्ति की ओर है मजबूरन हमने सरकार को अपनी समस्या से अवगत कराया है ताकि आबंटन जारी हो सके और शिक्षाकर्मियों को वेतन भुगतान हो सके । नवंबर में शिक्षाकर्मियों का संविलियन हो जाना है इसलिए हमारा सरकार से आप के माध्यम से निवेदन है कि अक्टूबर तक के वेतन के लिए एक साथ आबंटन जारी कर दें ताकि शिक्षाकर्मियों को आने वाले 2 माह समय पर वेतन भुगतान हो सके और पूरी प्रक्रिया सुचारू रूप से संपन्न हो सके ।

यहां नही हुआ है अब तक वेतन भुगतान

संविलियन अधिकार मंच ने जो सूची सौंपी है उसके अनुसार नगरी निकाय क्षेत्र में नगर पालिका परिषद सुकमा, नगर पंचायत सरिया, नगरीय निकाय सारंगढ़, लैलूंगा, जगदलपुर,बस्तर, अर्जुंदा, मनेंद्रगढ़ , राजनांदगांव, डोंगरगढ़ , नगर पंचायत धमधा , नगर निगम भिलाई ,कसडोल, नगर पंचायत भाटापारा, गौरेला, तखतपुर, अभनपुर, धरसीवा ,तिल्दा, नगरी, सरायपाली ,मगरलोड में वेतन भुगतान नहीं हुआ है । आरएमएसए और एसएसए के अंतर्गत कटघोरा, कोरबा, करतला, पाली, सुकमा, छिंदगढ़, कवर्धा, पत्थलगांव, लखनपुर ,उदयपुर, घरघोड़ा ,बरमकेला, नारायणपुर, बस्तर, जगदलपुर, डौंडी बालोद, बिलाईगढ़, गौरेला ,पेंड्रा ,मरवाही तखतपुर ,मस्तूरी ,धरसीवा, तिल्दा, सूरजपुर, मगरलोड, नगरी, बसना, कोंडागांव, बेमेतरा, बलरामपुर, राजपुर इत्यादि जगहों पर वेतन भुगतान नहीं हुआ ।
वहीं पंचायत विभाग के अंतर्गत कोरबा, पिपरिया, पलारी ,बागबाहरा और खड़गवा में वेतन भुगतान नहीं हुआ है

Get real time updates directly on you device, subscribe now.