npg

प्रमुख सचिव को फटकार: सीएम के सामने प्रमुख सचिव ने तुकबंदी के जरिये दिया प्रेजेंटेशन…तारीफ में कसीदे कसे, मुख्यमंत्री ने लगाई झाड़

जयपुर 3 अक्टूबर 2021। हर नेता के भाषण की एक कला होती है, जो उन्हें अलग बनाती है। कई बार तो भाषण की विशिष्ट शैली की वजह से लोग कुछ खास नेताओं को सुनने आते हैं। यही काम कोई अधिकारी कर दे तो…वह भी सीएम के सामने। ऐसा ही कुछ हुआ राजस्थान में। प्रशासन शहरों […]

Spread the love

प्रमुख सचिव को फटकार: सीएम के सामने प्रमुख सचिव ने तुकबंदी के जरिये दिया प्रेजेंटेशन…तारीफ में कसीदे कसे, मुख्यमंत्री ने लगाई झाड़
X

जयपुर 3 अक्टूबर 2021। हर नेता के भाषण की एक कला होती है, जो उन्हें अलग बनाती है। कई बार तो भाषण की विशिष्ट शैली की वजह से लोग कुछ खास नेताओं को सुनने आते हैं। यही काम कोई अधिकारी कर दे तो…वह भी सीएम के सामने। ऐसा ही कुछ हुआ राजस्थान में। प्रशासन शहरों के संग अभियान के शुभारंभ के मौके पर शहरी विकास एवं आवास विभाग के प्रमुख सचिव कुंजीलाल मीणा ने सीएम अशोक गहलोत और मंत्री शांति धारीवाल के सामने ही उनकी तारीफ में कसीदे कसे और नेताओं की तरह तुकबंदी कर भाषण दिया। एक नजर उनकी तुकबंदी पर डालिए-
आज है जयंती महात्मा गांधी
शुरू हो रही है पट्‌टों की आंधी
पट्टा नहीं मिलने पर लोगों को लगता है शोक
उसे अब दूर करेंगे श्री अशोक
अभियान चला रहे हैं 13 वर्ष के बाद
वहां प्रशासन होगा आपके साथ
जिसतें आएंगे पति-पत्नी साथ-साथ
उनको पट्टा देंगे हाथों हाथ
यदि जनता देगी हमारा साथ
समस्या निपटेगी हाथों हाथ
घर से आओ यान में
पट्टा ले जाओ अभियान में
इस तरह के भाषण से सीएम और मंत्री भी असहज हो गए। बाद में सीएम अशोक गहलोत ने कुंजीलाल मीणा को हल्की फटकार लगाते हुए कहा कि कुंजीलाल मीणा नेतागिरी करके भाषण देकर चला गया। यह पहला मौका नहीं है। इससे पहले भी आईएएस मीणा शासकीय सेवकों के आचरण के विपरीत सरकारी मंच में ही सीएम और मंत्री की तारीफ में कसीदे गढ़ चुके हैं। कुछ महीने पहले जोधपुर के विकास कामों के वर्चुअल समारोह में मीणा ने कहा था कि जिस रूप में गंगा मैया को शिवजी की जटाओं से धरती पर उतारने में राजा भगीरथ के भगीरथी प्रयासों को आज भी याद किया जाता है, उसी तर्ज पर मारवाड़ और राजस्थान में विकास रूपी गंगा को उतारने में सीएम गहलोत को हजारों बरसों तक याद किया जाता रहेगा। जोधपुर शहर के विकास लिए भी उन्हें हजारों साल याद किया जाता रहेगा।

Next Story