पुजारी को जिंदा जलाकर मार डाला : नाराज परिजन शव के साथ धरने पर बैठे….दो दिन बाद भी कोई जिम्मेदार नहीं पहुंचा… बेहोश होकर गिर रही है परिवार की महिलाएं

जयपुर 10 अक्टूबर 2020। राजस्थान के करौली में मंदिर के पुजारी को कथित तौर से जिंदा जला कर मारने के मामले में अब मृतक के घरवालों ने शव के अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया है। घरवालों का कहना है कि जब तक इस मामले के सभी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा वो शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। मृतक पुजारी का शव 2 दिन से रखा हुआ है और घर के लोग शव की अंत्योष्टि ना करने पर अड़े हुए हैं। इधर पुजारी के परिजन धरने पर बैठे हुए हैं, दो दिन से भूखे-प

यह पूरा घटनाक्रम करौली के सपोटरा थाना इलाके की ग्राम पंचायत बुकना का है। यहां मंदिर पर 50 वर्षीय बाबूलाल वैष्णव पूजा करता था और मंदिर माफी की जमीन पर भी उसी का कब्जा था। लेकिन इस जमीन को लेकर गांव के दबंग कैलाश मीणा की नजर थी। इसी जमीन पर कब्जा हथियाने के लिए आरोपी कैलाश मीणा ने पुजारी पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

ये है पूरा मामला
इस घटना को लेकर सपोटरा थाना अधिकारी हरजी लाल यादव ने बताया कि ग्राम पंचायत बुकना के मंदिर पर 50 वर्षीय बाबूलाल वैष्णव पूजा करते थे जिसे लेकर गांव वालों ने उसे मंदिर माफी की जमीन बता रखी थी। कुछ दिन पूर्व पुजारी ने जमीन के ऊपर रिहाशी घर बनाने के लिए समतल कराई थी। इस जमीन पर दबंगों ने जबरदस्ती छप्पर डालने शुरू कर दिये। इसपर पुजारी ने गांव वालों को से शिकायत की। इसी बात को लेकर दबंगों ने जमीन पर पुजारी के सामना को पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। बीच बचाव में आये पुजारी पर भी पेट्रोल डाल दिया गया। इस हादसे में पुजारी बाबूलाल बुरी तरह घायल हो गया जिसे सपोटरा अस्पताल लाया गया, जहां से चिकित्सकों ने अधिक घायल होने के कारण करौली रेफर कर दिया। परिजन उसे करौली न ले जाकर जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल लेकर पहुंचे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.