गोल्डन वाटर और गोल्डन मिल्क Corona का रामबाण ! जानिए क्या है Expert की राय….

नई दिल्ली 17 अप्रैल 2020 कोरोना महामारी से लड़ने के लिए विज्ञान तरह तरह के उपाय ढूंढने में जुटा है. इसी बीच आयुष मंत्रालय की ओर से भी गाइडलान जारी की गई है. इसमें गोल्डन मिल्क और गोल्डन वाटर कोरोना के लिए रामबाण साबित हो रहा है.

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान नई दिल्ली (AII) के निदेशक डॉ तनुजा मनोज ने  बताया कि प्रधानमंत्री ने जिन उपायों की बात की है वह आप घर में भी तैयार कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि काढ़ा, नमक, हल्दी पानी से गरारा यह सब कुछ ऐसे उपाय हैं जिससे कि हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और मजबूत होती है. इसके साथ ही खाने के पहले थोड़ा गुनगुना पानी का प्रयोग करें. यह पाचन शक्ति को काफी सही करता है.

गोल्डन वाटर और गोल्डन मिल्क

डॉ तनुजा मनोज ने बताया कि घर में आधा ग्लास गुनगुने पानी में थोड़ा नमक और आधा चम्मच हल्दी जब मिलाएंगे तो यह सुनहले रंग का दिखने लगेगा. इस पानी से सुबह शाम गरारा करने से गले की खरास की समस्या खत्म हो जाती है.

क्योंकि कोरोना गले पर असर करता है और इससे सूखी खांसी बढ़ जाती है. इसे ध्यान में रखते हुए जरुरी है कि हल्दी पानी से गरारा करें. इसके साथ ही रात को सोने से पहले दूध में हल्दी मिलाकर सेवन करने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और दुरुस्त होती है.

कैसे बनाएं देसी काढ़ा

काढ़ा देसी तरीके से हमारे देश में यहा काफी प्रचलित है. लेकिन आयुर्वेद में कई तरह के प्रयोग करने के बाद खात तरीके से तैयार किया गया है जिसका जिक्र प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा था. एआईआई के निदेशक ने बताया कि घर में दालचीनी पाउडर आधा चम्मच, गोल मरीच के दो से तीन दाने, दो चुटकी सोंठ, पांच से छह दाने मुनक्का, तुलसी के पांच से छह पत्ते और इसके साथ गुड़ अथवा थोड़ा शहद को गरम पानी में उबाला जाता है.

इसके दो से तीन मिनट बाद ही उतार लिया जाता है. इसके बाद काढ़ा तैयार हो जाता है. कुछ लोग इसे हरबल टी भी कहते हैं. उन्होंने कहा कि सुबह शाम पीने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता काफी दुरुस्त होती है.

नाक में कोरोना प्रोटेक्टर

कोरोना मुंह और नाक के माध्यम से शऱीर में प्रवेश करता है. ऐसे में जरुरी है कि नाक को प्रोटेक्ट करके रखें. डॉ तनजा ने बताया कि अणु तेल का प्रयोग कोरोना प्रोकेक्टर के तौर पर है. सुबह घर से निकलने से पहले अपने नाक में सरसों के तेल की कुछ बूंदे डालें. यह किसी भी तरह के जीवाणुओं के प्रवेश को रोकता है.

Spread the love