नए सिकरेट्री टू सीएम सिद्धार्थ कोमल परदेशी साफ-सुथरी छबि के आईएएस हैं, चार जिलों के कलेक्टर रह चुके हैं, उनके बारे में और जानने के लिए पढ़ें इस खबर को

NPG.NEWS
रायपुर, 11 जून 2020। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आईएएस सिद्धार्थ कोमल परदेशी का अपना नया सिकरेट्री अपाइंट किया है। सिद्धार्थ साफ-सुथरी छबि के आईएएस माने जाते हैं। हालांकि, युवा महोत्सव के सफल आयोजन के बाद ही उन्हें सीएम सचिवालय में सिकरेट्री बनाने की अटकलें थी। लेकिन, उस समय अटकलें आदेश में परिवर्तित नही हो सकीं।
सिद्धार्थ 2003 बैच के आईएएस हैं। वे लगातार चार जिलों की कलेक्टरी कर चुके हैं। कवर्धा से उनकी कलेक्टरी की ईनिंग शुरू हुई थी। उसके बाद राजनांदगांव, बिलासपुर और फिर रायपुर के कलेक्टर रहे। वे हाउसिंग बोर्ड के कमिश्नर, टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के डायरेक्टर रह चुके हैं। वे सचिव के रूप मेें उर्जा जैसा विभाग संभाल चुके हैं।
कांग्रेस सरकार आने के बाद हालांकि, प्रारंभ में सिद्धार्थ को ज्यादा अहमियत नहीं मिली। उन्हें युवा एवं खेल विभाग का सचिव बनाया गया। लेकिन, युवा महोत्सव का सफल आयोजन करके वे मुख्यमंत्री का विश्वास जीतने में कामयाब हुए। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तब सिद्धार्थ की काफी तारीफ की थीं। उसके बाद ही उन्हें महिला बाल विकास और फिर पीडब्लूडी जैसे टाॅप फाइव का विभाग सौंप दिया गया।
वैसे भी, सीएम सचिवालय में अफसरों की कमी महसूस की जा रही थी। पिछली सरकार में शिवराज सिंह सलाहकार थे। सचिवालय मे एन बैजेंद्र कुमार, अमन सिंह, सुबोध सिंह, रजत कुमार, मुकेश बंसल एसीएस, प्रिंसिपल सिकरेट्री, सिकरेट्री और स्पेशल सिकरेट्री थे। उसकी तुलना में भूपेश बघेल सचिवालय में अफसरों की कमी है। सिकरेट्री टामन सिंह सोनवानी पीएससी के चेयरमैन बन गए हैं। कुल तीन ही अधिकारी सचिवालय संभाल रहे हैं। सुब्रत साहू, तारण सिनहा और सौम्या चैरसिया। स्वाभाविक तौर पर इन पर कार्य का लोड होगा।

Spread the love