comscore

बीजापुर मुठभेड़ में 4 नक्सलियों के मारे जाने की बात माओवादियों ने कबूली…..लापता जवान की किडनैपिंग, 14 हथियार व 2000 गोलियों को लूटने की भी कही बात…..जवान की रिहाई को लेकर कही ये बात

रायपुर 6 अप्रैल 2021। बीजापुर के तर्रेम में हुए नक्सली हमले को लेकर नक्सलियों ने अपना बयान जारी किया है। नक्सलियों ने इस बात को स्वीकार किया है कि मुठभेड़ में उसके भी 4 कमांडर मारे गये हैं। हालांकि पुलिस का दावा था कि 20 से ज्यादा नक्सलियों को मार गिराया गया है। नक्सलियों ने मुठभेड़ को लेकर जारी बयान में इस बात को भी स्वीकार किया है कि एक लापता जवान उसके कब्जे मे है। जवान को छोड़ने के लिए नक्सलियों ने एक मध्यस्थ कमेटी बनाने को कहा है, अभी नक्सलियों ने जवान को अपने पास होने की बात कही है।

दरअसल 3 अप्रैल को बीजापुर के तर्रेम के जीरागुड़ेम गांव में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ हुई थी, जिसमें 22 जवान शहीद हुए थे। हालांकि नक्सलियों ने अपने प्रेस नोट में कहा है कि 24 जवान उस मुठभेड़ में मारे गये हैं। वहीं महिला नक्सली को मार गिराने को भी नक्सलियों ने फर्जी इनकाउंटर बताया है।

नक्सलियों के प्रवक्ता विकल्प की तरफ से जारी प्रेस नोट में कहा गया है कि मुठभेड़ में चार नक्सली ओड़ी सन्नी, पदाम लखमा, कोवासी बदरू और नूपा सुरेश मारा गया है। हालांकि ओड़ी सन्नी का शव नक्सली अपने साथ नहीं ला पाये, जबकि बाकी तीन नक्सलियों का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। नक्सलियों ने तस्वीर भी जारी की है। नक्सलियों ने कहा है कि उन्होंने जवानों से 14 हथियार के साथ-साथ 2000 से ज्यादा गोलियां और मोबाइल पर्स सहित अन्य समान लूटे हैं।

 

Spread the love