गुमशुदा बच्चों का मसला: लापता बच्चों के मामलों में छत्तीसगढ़ ने देश के 22 राज्य और 7 केंद्र शासित प्रदेशों को पीछे छोड़ा.. देश के प्रथम दस राज्यों में शामिल

नई दिल्ली,16 सितंबर 2020। लापता बच्चों के बढ़ते मामलों में छत्तीसगढ़ की चिंताजनक उपस्थिति है। गुमशुदा बच्चों के जो आंकडे छत्तीसगढ़ के हैं वो आंकडे देश के 22 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेशों को पीछे छोड़ते हैं। गुमशुदा बच्चों के मामले में छत्तीसगढ़ टॉप टेन में शामिल है, उसका नंबर सातवाँ हैं।
इस सुची में देश में पहले नंबर पर मध्यप्रदेश और बहुत करीबी स्थान पर ठीक नीचे पश्चिम बंगाल मौजुद है। छत्तीसगढ़ के ठीक उपर बेहद करीबी आंकडे के साथ तेलंगाना मौजुद है। आँकड़ों के हिसाब से टॉप टेन तैयार किया जाए तो समझ आता है कि छत्तीसगढ़ मिला कर चार राज्य हिंदी पट्टी के हैं। सबले चिंतनीय यह भी है कि बच्चों की गुमशुदगी के आँकड़े पूरे भारत के राज्यों में दर्ज हैं। हालाँकि एक केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप में यह आँकड़ा शून्य के रुप में दर्ज है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.