सुबह 4.30 बजे पहली फ्लाइट उड़ान भरेगी….एयरपोर्ट में इन करते जूता होगा सेनेटाइज… खाना घर से खाकर आये, फ्लाइट की हर सीट पर रखा रहेगा एक बोतल पानी… अगर आरोग्य सेतु एप ना हो तो ये करे काम..

नई दिल्ली 24 मई 2020। घरेलू उड़ान शुरू होने में अब कुछ ही वक़्त बचा है, 25 मई से इसकी शुरुआत होने जा रही है. दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से पहली फ्लाइट सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर उड़ान भरेगी. इस शुरुआत के पहले चरण में 2800 उड़ानों को प्लान किया गया है. घर से निकलने से पहले, अपनी एयरलाइंस की वेबसाइट के माध्यम से सेल्फ़ चेक इन कर के आएं यानी उसका प्रिंटआउट/बोर्डिंग पास ले कर आएं. एयरपोर्ट पर एंट्री पॉईंट से पहले बोर्डिंग पास प्राप्त करने के लिए सेल्फ़ चेक इन बूथ लगाए गए हैं. ऐसे ही कीओस्क आपको एयरपोर्ट में एंट्री के बाद भी मिलेंगे. यहां से आपको बोर्डिंग पास का प्रिंट आउट मिल जाएगा.

आरोग्य सेतु एप ज़रूरी है अगर न हो तो दूसरे उपाए भी हैं

यात्री आरोग्य सेतु एप ज़रूर डाउनलोड कर लें, ये ज़रूरी है. अगर किसी वजह से ये सम्भव नहीं हो पाता तो वहीं पे उपलब्ध एक सेल्फ़ डिक्लेरेशन फॉर्म भर कर आप बता सकते हैं कि आप कोविड-19 संक्रमित नहीं हैं.

खाने और सामान के बारे में

20 किलो से कम सामान लाएं. सिर्फ़ एक लगेज बैग लाएं. हाथ में कोई केबिन बैग न लाएं. खाना घर से खा के आएं. फ़्लाइट में खाना नहीं मिलेगा. लेकिन पानी की बोतल हर सीट पर पहले से रखी मिलेगी. एयरपोर्ट की लॉबी में प्रतीक्षा के दौरान एचओआई एप डाउनलोड करके यात्री आस पास के फ़ूड शॉप से खाने की चीजें आर्डर कर सकते हैं.एयरपोर्ट पर हाथ सेनेटाइज़ करने के लिए ऐसी मशीन लगी है जिसे छूने की ज़रूरत नहीं होगी. सेंसर के माध्यम से ये काम करती है. दिल्ली एयरपोर्ट के T-3 टर्मिनल पर लगे कार्पेट में भी ऐसे केमिकल डाले गए हैं जिससे यात्रियों के जूते चलते समय ही सेनेटाइज़ हो जाएंगे.

हर दस मिनट में बदल जाएगी एयरपोर्ट की लॉबी में हवा

सेंट्रल एसी के संक्रमण सम्बंधी ख़तरे को देखते हुए एयरपोर्ट के पूरे भीतरी हिस्से की हवा में हर दस मिनट में फ़्रेश एयर इंजेक्ट कराने की व्यवस्था की गई है.एयरपोर्ट में एंट्री से पहले यात्रियों का थर्मल कैमरे से टेम्प्रेचर लिया जाएगा. सोशल डिस्टेंसिंग के लिए ज़मीन पर चिन्ह बने हैं. प्रत्येक लाईन के लिए एक से अधिक एयरपोर्ट स्टाफ़ या एयरलाईन स्टाफ़ मौजूद रहेगा जो फ़िज़िकल डिस्टेंसिंग को सुनिश्चित करेगा. कई जगहों पर थर्मल स्क्रीनिंग कैमरे लगे हैं जो यात्रियों के शरीर के तापमान को रीड करेंगे.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.