रणजी क्रिकेट के सबसे बड़े बॉलर राजिंदर गोयल का निधन

नईदिल्ली 22 जून 2020। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 750 विकेट लेने वाले पूर्व लेफ्ट आर्म स्पिनर राजिंदर गोयल का उम्र संबंधी बीमारियों के कारण रविवार को रोहतक में अपने निवास पर निधन हो गया था। वह 77 वर्ष के थे।

गांगुली ने सोमवार को शोक प्रकट करते हुए कहा कि भारत ने घरेलू क्रिकेट का एक दिग्गज खो दिया। राजिंदर गोयल के असाधारण रिकॉर्ड उनकी कला और उस पर उनके नियंत्रण को दर्शाते हैं। वह अपने करियर में 25 सालों से अधिक खेले और निरंतर शानदार प्रदर्शन करते रहे। उन्होंने कहा कि 750 विकेट लेने के लिए वर्षों कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और उनके इस शानदार प्रयास के लिए मैं उन्हें सलाम करता हूं। मैं उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना प्रकट करता हूं।

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने कहा कि राजिंदर गोयल भारतीय क्रिकेट के सच्चे सेवक थे। वह देश के वर्तमान और कई आने वाले स्पिनरों के आदर्श थे। उनका लम्बे समय तक खेलना और अपने प्रदर्शन के उच्च स्तर को बनाए रखना आने वाले क्रिकेटरों को मैदान में अच्छा करने और हर बार बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रेरित करेगा। बीसीसीआई ने उन्हें वर्ष 2017 में कर्नल सीके नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया। इस दुख की घड़ी में मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं।

कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने कहा कि राजिंदर गोयल जी एक दिग्गज थे। वह अपने संन्यास के बाद भी खेल से जुड़े रहे और अक्सर छोटे बच्चों को खेलते देख हमेशा उनका मार्गदर्शन किया। वह रणजी ट्रॉफी के इतिहास में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदना।

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी उन्हें अपनी कला में माहिर क्रिकेटर बताया। शास्त्री ने ट्विटर पर लिखा कि राजिन्दर गोयल जी की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। वह अपनी कला के माहिर थे। उनकी लाइन व लेंथ शानदार थी। वह बहुत अच्छे इंसान थे।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.