टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ने लिया क्रिकेट के अलविदा….संन्यास की घोषणा करते-करते रो पड़े….विकेटकीपर के साथ-साथ बल्लेबाजी में भी था शानदार प्रदर्शन

इंदौर 15 फरवरी 2021। भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज नमन ओझा ने संन्यास ले लिया। करीब 20 साल तक घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करने वाले इस क्रिकेटर ने आज संन्यास की घोषणा की। रणजी ट्रोफी में विकेटकीपर के तौर पर सबसे ज्यादा शिकार (351) का रेकॉर्ड अपने नाम रखने वाले मध्यप्रदेश के इस दिग्गज ने एक टेस्ट, एक एकदिवसीय और दो टी20 अंतरराष्ट्रीय में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है।

ओझा ने खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा करते हुए कहा कि वह अब दुनियाभर के टी20 लीगों में खेलना चाहते हैं। संन्यास की घोषणा करते समय इस 37 साल के खिलाड़ी की आंखें नम हो गई थीं। उन्होंने कहा, ‘मैं क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। यह लंबा सफर था और राज्य एवं राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करने का मेरा सपना पूरा हुआ।’ उन्होंने राज्य और राष्ट्रीय टीम में मौका देने के लिए मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) का शुक्रिया अदा किया।

ऐसा रहा इंटरनेशनल क्रिकेट करियर

घरेलू क्रिकेट और इंडियन प्रीमियर लीग में शानदार प्रदर्शन के बाद 2010 में श्रीलंका के खिलाफ एकदिवसीय और जिम्बाब्वे के खिलाफ टी20 अंतरराष्ट्रीय सीरीज के दौ मैचों में खेलने का मौका मिला। उन्हें हालांकि एक एकदिवसीय और दो टी20अंतरराष्ट्रीय के बाद टीम में मौका नहीं मिला। भारत ए के साथ 2014 ऑस्ट्रेलिया दौरे पर बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने के बाद 2015 में उन्हें भारतीय टेस्ट टीम के लिए चुना गया। श्रीलंका दौरे पर तीसरे टेस्ट में उन्हें पदार्पण का मौका मिला था जिसमें उन्होंने पहली पारी में 21 और दूसरी पारी में 35 रन का योगदान दिया था।

Spread the love