ब्रेकिंग : शिक्षक आनलाइन लेंगे बच्चों की क्लास : शिक्षा विभाग ने लांच किया ‘पढ़ईं तुंहर दुआर ‘ आनलाइन पोर्टल….. बच्चों को घर बैठे करायी जायेगी पढ़ाई… वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये सवाल पूछने और होमवर्क दिये जाने की भी व्यवस्था… देखिये कैसे काम करेगा ये पोर्टल

रायपुर 7 अप्रैल 2020। लॉकडाउन में स्कूल बंद रहने की वजह से बच्चों को पढ़ाई का बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है। लिहाजा अब राज्य सरकार बच्चों में पढ़ाई की लय बरकरार रहे और उनका सिलेबस सुचारू रुप से चले, उसे लेकर बड़ा निर्णय किया है। राज्य सरकार ने घर पर रहकर पढ़ाई की योजना ” पढ़ाई तुहर दुआर” योजना शुरू करने जा रही है। स्कूल शिक्षा विभाग ने इस योजना को स्वीकृति दे दी है।

स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला ने अपने आदेश में कहा है कि पढ़ई तुहर         दुआर योजना के तहत सभी तरह के खर्च समग्र शिक्षा में उपलब्ध बजट से किया जायेगा।

दरअसल स्कूली बच्चों को आनलाइन पोर्टल के जरिये पढ़ाई कराने की व्यवस्था की गयी है। इसे हर किसी के लिए निशुल्क रखा गया है, जो cgschool.in पर उपलब्ध है। डीपीआई जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि इस पोर्टल में पहली कक्षा से लेकर 10वीं तक के स्टडी मैटेरियल मौजूद हैं, जल्द ही इसका विस्तार 11वीं और 12वीं के लिए भी किया जायेगा। इस पोर्टल के जरिये बच्चों को सिर्फ आनलाइन स्टडी मैटेरियल ही उपलब्ध नहीं कराये जा रहे, बल्कि उन तमाम सिलेबस का भी ख्याल रखा गया है, जो किताबों में मौजूद रहते हैं। डीपीआई के मुताबिक  इस पोर्टल में पीडीएफ फार्मेट में पाठ्य पुस्तक, आडियो, वीडियो, लेसन के साथ अन्य संसाधन भी दिये गये हैं।

जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि  एप के जरिये वीडियो कांफ्रेंसिंग से भी जुड़ने की व्यवस्था है, बच्चे आनलाइन होकर सवाल भी पूछ सकते हैं। वहीं आनलाइन आकर शिक्षक भी बच्चों को पढायेंगे। पोर्टल को आनलाइन क्लास का अनुभव बच्चों को दिलाने की कोशिश की गयी है।

इस एप के जरिये बच्चों को आनलाइन होमवर्क भी दिया जायेगा, जिसका हल वो घर में बैठकर करेंगे और फिर उसे मोबाइल के जरिये अपलोड करेंगे। लाकडाउन समाप्त होने के बाद इस पोर्टल का उपयोग होता रहेगा।

इस स्कूल शिक्षा विभाग ने तैयार किया सबसे बड़ा online पोर्टल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज पढ़ाई तुहर दुआर योजना के आनलाइन पोर्टल का शुभारंभ किया। इस दौरान शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, प्रमुख सचिव आलोक शुक्ला, जनसंपर्क आयुक्त तारण प्रकाश सिन्हा, डीपीआई जितेंद्र शुक्ला, उप सचिव सौम्या चौरसिया मौजूद थी। इस पोर्टल की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इसके प्री लाँच अवधि के पहले दो दिन में ही 1000 से ज़्यादा शिक्षक जुड़ चुके हैं, साथ ही इस पोर्टल से 400 से ज़्यादा छात्रों ने भी अपने को जोड़ लिया है।
इस पोर्टल से लाखों छात्र बिना किसी शुल्क के online पढ़ाई कर सकेंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी ने दामिनी नामक छात्रा से बात भी की।  इसके अलावा उन्होंने पाटन के सेलूद स्कूल के शिक्षक मिलिंद से ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से बात की। उन्होंने इस पोर्टल के लिए पूरी टीम को बधाई दी।

कैसे काम करेगा ‘पढ़ाईं तुँहर दुआर ‘ आनलाइन पोर्टल

नाम दिया गया है, इस पोर्टल में ऑन लाइन कक्षायें भी होंगी जिसका लाभ बिना किसी फ़ी के लोग उठा सकेंगे, हिंदी भाषी राज्यों के लोग , राज्य के बाहर इसका लाभ ले सकेंगे, सिर्फ़ मोबाइल की मदद से छात्र को पंजियन करना होगा, इस पोर्टल में ऑनलाइन होमवर्क की सुविधा होगी तथा उक्त होमवर्क की जाँच भी online होगीइस पोर्टल को स्कूल शिक्षा विभाग के द्वारा एनआईसी की मदद से बिना किसी खर्च के विकसित किया गया है।

 

Spread the love