कोरोना की जंग में सरकार को सहयोग देने आगे आए शिक्षक संघ… कहा – हमारे वेतन से लीजिए सहयोग राशि… मुसीबत की इस घड़ी में हम हैं आपके साथ

रायपुर 24 मार्च 2020. शिक्षकों को सबसे संवेदनशील माना जाता है और एक बार फिर प्रदेश के शिक्षकों ने संवेदनशीलता दिखाई है अक्सर अधिकांश कामों की जिम्मेदारी जिसमें जनगणना से लेकर चुनाव ड्यूटी तक शामिल होता है शिक्षकों के कांधे पर ही होता है पर इस बार की लड़ाई में शिक्षक प्रत्यक्ष रूप से साथ नहीं दे पा रहे हैं ऐसे में प्रदेश सरकार के कांधों को मजबूती देने का काम शिक्षक सरकार को आर्थिक रूप से सहयोग देकर करना चाहते हैं । अलग-अलग संगठनों से जुड़े अनेकों शिक्षकों ने मुख्यमंत्री के फेसबुक पर जो ट्विटर अकाउंट पर मैसेज डाल कर यह निवेदन किया है कि हमारे वेतन से कोरोना से जंग लड़ने के लिए सहायता राशि ले लीजिए और हम यह राशि स्वेच्छा से दे रहे हैं इस मुसीबत की घड़ी में हम आपके और प्रदेशवासियों के साथ हैं

गौरतलब है कि प्रदेश में लाखों की संख्या में शिक्षक कार्यरत हैं और यदि शिक्षकों के वेतन से एक-एक दिन की भी राशि सरकार द्वारा ली जाती है तो कई करोड़ रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा हो जाएंगे जिससे राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था और आपदा प्रबंधन बढ़िया हो सकती है ।

इधर शिक्षक जगत के साथ साथ अन्य कर्मचारी संगठन भी इस दिशा में कदम आगे बढ़ाते हुए दिखाई दे रहे हैं और यह राज्य को कोरोना की बीमारी से लड़ने में बड़ी सहायता दे सकता है ऐसे भी पहले भी अन्य राज्यों की प्राकृतिक आपदाओं के लिए सरकारी कर्मचारियों के वेतन से एक-एक दिन की राशि कटौती की जाती रही है इस बार कर्मचारियों ने खुद से यह पहल कर दी है और सरकार इस पर निर्णय लेकर तत्काल अपनी वित्तीय स्थिति इस आपदा से निपटने के लिए बेहतर कर सकती हैं ।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.