सूरजपुर टेलीमेडिसिन से मिल रही घर पहुंच नि:शुल्क दवाई ,स्वास्थ्य सेवा….

आनलाईन पोर्टल से घर बैठे शुरू हुई चिकित्सा परामर्ष और दवाई उपलब्धता सुविधा,डाॅक्टर

विडियो काॅल पर सुगमता से होंगे उपलब्ध, घर पहुंचाई जाएगी नि:शुल्क दवाई

ग्राम पचीरा के बिहारीलाल बनें पहले लाभार्थी, मोर मोबाईल मोर डाक्टर कहकर जताई प्रसन्नता

सूरजपुर 18 अप्रैल 2020 ।वैष्विक महामारी बनकर उभरी कोरोना वायरस से अलग अलग मोर्चे पर जंग में शासन व प्रषासन विभिन्न स्तरों पर कवायद कर रहा हैं। इस जंग में सबसे अहम भूमिका निभा रहे स्वास्थ्य अधिकारियों व कर्मचारियों। जिन पर स्थानीय स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ कोरोना वायरस से संबंधित कार्यो का दबाव में राहत दिलाने की जिम्मेदारी है। आमजनो को लाकडाउन अवधि में घरों से उपचार संबंधित कारणों के लिए अनावश्यक आवागमन, परेशानियों व आर्थिक क्षति सें राहत देने के लिए राज्य सरकार की मंशानुरूप सूरजपुर जिलें में कलेक्टर  दीपक सोनी के नेतृतव में जिला प्रशासन की टीम के संयुक्त द्वारा लाॅकडाउन के उद्देष्य को सार्थक करने के दिशा में बहुआयामी टेली मेडिसिन सुविधा प्रारंभ किया गया है। इसके लिए जिला रेड क्रॉस सोसाइटी को सक्रिय कर सेवा भाव की भूमिका निभाने हेतु प्रेरित किया गया । जिससे लाॅकडाउन की अवधि में लोगों को अधिक से अधिक अपने घरों पर रहकर चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता सुगमता से उपलब्ध होगी और उपचार संबंधित परेशानियों में भी घर से बाहर निकलने की जरूरत नहीं होगी।इससे जहां सोशल डिस्टेंस व लाकडाउन के उद्देश्य सार्थक होते हुए, स्वास्थ्य अमलों में कार्यो में दबाव कम होगा।आपको बताते चलें की लाॅकडाउन में चिकित्सा को सुगम बनाने के लिए राज्य शासन के मंषानुरूप आनलाईन पोर्टल के माध्यम से मोबाईल में ही चिकित्सा परामर्ष और आवष्यक दवाई को घर पहुच उपलब्ध कराने के लिए कलेक्टर श्री दीपक सोनी के द्वारा ‘सेवार्थ – सूरजपुर टेलीमेडिसिन’ के नाम से शुरू किया गई पहल के पहलेे दिन ही करीब 100 सें अधिक लोगों ने इस सुविधा
का लाभ उठाने के लिए पंजीकरण कराने सहित आवश्यक परामर्श व घर पहुंच दवा सुविधा का लाभ प्राप्त की।यह सुविधा जिलें के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में एक समान सहजता से उपलब्ध कराई जाएगी ।डोर टू डोर स्वास्थ्य संबधित सेवाएं हर स्थिति में उपलब्ता कराई जाएगी।
ऐसे मरीज कर सकेंगें पंजीयन-

मरीज अपने स्मार्ट फोन के द्वारा संबंधित
https//cgsurajpur.shanrohi.co/cgemed लिंक को ओपन कर आसान प्रकिया के माध्यम से पंजीयन कर सकते हैं, पंजीयन उपरांत आवेदन का नंबर प्राप्त होगा जिसपर जल्द ही डाॅक्टर अपनी प्रतिक्रिया देंगें। इसमें मरीज मोबाईल पर प्राप्त विडियो लिंक के माध्यम से डाॅक्टर से वीडियो काॅल, वाईस काॅल अथवा मैसेज से भी परामर्ष ले सकते हैं। इसके पष्चात् मोबाईल पर ही दवाई की पर्ची प्राप्त हो जायेगी। जिसे भारतीय रेडक्राॅस सोसायटी के वॉलिंटियर्स द्वारा मरीज को घर पहुॅच निःषुल्क सुविधा के माध्यम से उपलब्ध कराया जायेगा। अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए टेलिमेडिसिन हेल्पलाईन नंबर 7879810704 जारी किया गया है।

बहुआयामी लाभ से लबरेज है यह सेवा-
कलेक्टर  दीपक सोनी ने बताया कि राज्य शासन के मंषानुरूप बहुआयामी लाभ को दृष्टिगत रखते हुए सेवा का प्रारंभ किया गया है, इसमें मरीज से लेकर स्वास्थ्य अमले के कार्य को भी सुगम बनाने के लिए योजना बनाई गई है। मुख्य रूप से कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु किये गये लाॅकडाउन में बुजुर्गो, महिलाओं एवं असहाय वर्गो को घर पहुंच चिकित्सा परामर्ष एवं दवाई घर पर ही उपलब्ध कराना है। जिले के अधिकांष क्षेत्र वनांचल एवं ग्रामीण है जहां मरीजों को दवाई के लिए शहरों में आश्रित नही होना पड़ेगा। इसके अलावा चिकित्सालयों में मरीजों को आने की आवश्यकता नही पड़ेगी और चिकित्सकों के कार्य पर दबाव भी कम होगा। घर पहुंच सुविधा से सभी वर्गाे को लाभ पहुंचाकर राज्य की मंषानुसार मरीजों के हितार्थ उन्हें संबल बनाने का हर संभव प्रयास जिला प्रषासन कर रहा है।
सूरजपुर विकासखंड के ग्राम पचीरा के  बिहारीलाल बने पहले सेवा प्राप्त करनें वालें हितग्राही, कहा मोर मोबाइल अब बन गईस हवे डाक्टर-
वाट्सएप ग्रूप में प्रसारित किये गये टेलिमेडिसिन के विज्ञापन को देखकर विकासखंड सूरजपुर के पचिरा निवासी  बिहारीलाल कुलदीप उम्र लगभग 51 वर्ष ने अपनी पेट की समस्या पर परामर्ष लेने टेलिमेडिसीन के आनलाईन पोर्टल में पंजीयन किया जिसपर डाॅ सरोता पाण्डे ने उन्हें अटेंड कर आवष्यक परामर्ष के साथ दवाई की पर्ची आनलाईन सबमीट किया। इसके उपरांत आज प्रातः ही रेडक्राॅस सोसायटी के वाॅलिटिंयर्स ने ग्राम पचीरा  बिहारीलाल के निवास पहुंचकर दवा उपयोग करने की विधि से अवगत कराते हुए प्रदान किया हैं। इस सेवा से प्रसन्न होकर मोर मोबाईल मोर डाॅक्टर शब्द को बयाॅ करते हुए जिला प्रषासन की टीम और राज्य शासन को धन्यवाद ज्ञापित किया है।

Spread the love