सुकमा कलेक्टर बोले : गोठानों को आत्मनिर्भर बनाने किए जाए कार्य…आखिरी व्यक्ति तक बुनियादी सुविधाओं की पहुंच आवश्यक….

सुकमा, 10 नवम्बर 2020।कलेक्टर  विनीत नन्दनवार ने मंगलवार को आयोजित समय सीमा की बैठक में समस्त विभागीय कार्यों की जानकारी प्राप्त करते हुए विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले के सर्वांगीण विकास के लिए सभी विभागों को टीम वर्क के साथ बुनियादी सुविधाओं को जिले वासियों तक पहुंचाना आवश्यक है ताकि जिले वासियों को शासन के योजनाओं का लाभ मिल सके। स्वास्थ्य, शिक्षा के क्षेत्र सहित बच्चों के जाति प्रमाण पत्र व आंगनबाड़ी आदि को प्राथमिकता देते हुए उन्होंने विद्युत विहीन आंगनबाड़ी केंद्रों के साथ ही विद्यालयों में शीघ्र विद्युत कनेक्शन लगाने के निर्देश दिए।
कलेक्टर  विनीत नन्दनवार ने प्रधानमंत्री आवास योजना, गौठान निर्माण, चारागाह विकास, घुरूवा संवर्धन, खाद उत्पादन, गोधन न्याय योजना अन्तर्गत नाडेप टांका व वर्मी टांका निर्माण, बाड़ी निर्माण, आंगनबाडी भवन निर्माण, सीसी सड़क व पुलिया निर्माण सहित विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।कलेक्टर श्री नन्दनवार ने समीक्षा के दौरान बच्चों के जाति प्रमाण पत्र यथाशीघ्र बनाने के निर्देश दिए ताकि बच्चें अनावश्यक रूप से परेशान न हो। इसके साथ ही जल-जीवन मिशन के संबंध में पूरी तैयारी रखने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए।
गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि गोठानों को आत्मनिर्भर बनाने हेतु कार्य किया जाए जिससे ग्रामीणों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के साथ ही उन्हें स्वावलंबी एवं रोजगार उपलब्ध हो सके। धान खरीदी की तैयारियों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर  नंदनवार ने बारदाना उपलब्धता की जानकारी ली एवं धान खरीदी हेतु चबूतरों को सुरक्षित करने के निर्देश दिए जिससे धान खरीदी में कोई परेशानी ना हो। इसके साथ ही एसडीएम को निरंतर तौर पर पीडीएस दुकानों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।
जिला मुख्यालय के सभाकक्ष में आयोजित समीक्षा बैठक में वनमंडलाधिकारी श्री आर डी तारम, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  नूतन कुमार कंवर, अपर कलेक्टर  ओपी कोसरिया सहित जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

Spread the love
error: Content is protected By NPG.NEWS!!