छात्र-शिक्षक सभी कोरोना संक्रमित : स्कूल खोलने के बाद भी वीरान हैं कक्षाएं….कहीं बच्चे हुए कोरोना संक्रमित, तो कहीं शिक्षक और प्रधानपाठक हैं पॉजेटिव… कई जगहों पर बंद करने की स्कूलों में नौबत

पटना 9 जनवरी 2021। कोरोना वैक्सीन भले ही आने वाली हो, लेकिन कोरोना फिलहाल जाता नहीं दिख रहा है। कोरोना की वजह से नुकसान तो पूरी दुनिया का हो रहा है, लेकिन सबसे ज्यादा अगर किसी का नुकसान हुआ है तो वो है छात्रों का। कालेज-स्कूल महीनों से बंद हैं और जहां खुले हैं वहां भी बंद करने की नौबत आ रही है। बिहार की स्थिति भी ऐसी ही है। 4 जनवरी से बिहार में स्कूल-कालेज खुल गये हैं। लेकिन वहां की स्थिति बेहद बुरी है।

एक तो बिहार के स्कूलों में बच्चे पहुंच नहीं रहे हैं और जो पहुंच भी रहे हैं वो भी लगातार संक्रमित हो रहे हैं। यही नहीं शिक्षक और प्रधान पाठकों के भी लगातार संक्रमित होने की खबरें आ रही है। राज्य के मुंगेर ज़िले में 25 बच्चों के संक्रमित होने की ख़बर आयी है. इसके अलावा ज़िले के असरगंज प्रखंड के लाल बहादुर शास्त्री किसान उच्च विद्यालय की दो शिक्षिकाएं और एक कर्मचारी भी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं।

इधर गया ज़िले के खिजरसराय प्रखंड के सरैया गांव में सरैया उच्च माध्यमिक विद्यालय के हेड मास्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. गया के जिला शिक्षा पदाधिकारी मुस्तफा हुसैन मंसूरी ने बताया कि हेड मास्टर ने ही फोन पर जानकारी दी कि वह खुद कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं और पटना में रुबन मेमोरियल हॉस्पिटल में इलाजरत हैं. हेड मास्टर ने ही सबसे पहले स्कूल के शिक्षकों को पॉजिटिव होने की बात बतायी और सभी से कोरोना टेस्ट कराने का अनुरोध किया था.

जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि सूचना मिलते ही हमने प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और बीडीओ को स्कूल बंद करने का निर्देश दिया और उनके संपर्क में आए सभी शिक्षकों और बच्चों को कोरोना टेस्ट करवाने का निर्देश दिया. इसके बाद स्थानीय खिजरसराय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में स्कूल के 8 शिक्षकों और 7 छात्रों का कोरोना टेस्ट करवाया गया, जिसमें अभी तक 1 शिक्षक की जांच रिपोर्ट निगेटिव आयी है बाकी लोगों की रिपोर्ट 72 घंटे में आएगी. फिलहाल स्कूल में पठन-पाठन अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है और स्कूल के सेनेटाइज कराने का आदेश दिया गया है.

Spread the love