npg
खेलकूद

IND vs NZ: जीत के करीब आकर चूका भारत, आखिरी विकेट नहीं ले सकी टीम इंडिया... अंतिम पलों में पहला टेस्ट मैच.....

IND vs NZ: जीत के करीब आकर चूका भारत, आखिरी विकेट नहीं ले सकी टीम इंडिया... अंतिम पलों में पहला टेस्ट मैच.....
X

नईदिल्ली 29 नवंबर 2021 I भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला जा गया कानपुर टेस्ट ड्रॉ हो गया है. टीम इंडिया आखिरी विकेट लेने में नाकाम रही और अंत में मैच ड्रॉ हो गया. टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को 284 रनों का लक्ष्य दिया था, लेकिन आखिरी दो सेशन में भारतीय स्पिनर्स के कमाल के आगे कीवी टीम बेदम नज़र आई.लेकिन कानपुर टेस्ट के आखिरी घंटे में न्यूजीलैंड के रचिन रवींद्र और एजाज पटेल ने आखिरी विकेट नहीं गिरने दिया. खराब रोशनी के बावजूद मैच खेला जा रहा था, लेकिन टीम इंडिया मैच जीत नहीं सकी.

भारत और न्यूजीलैंड के बीच कानपुर में खेली गई दो मैचों की सीरीज के पहले मैच में कोई नजीता नहीं निकल पाया। मेहमान टीम ने जुझारू खेल दिखाते हुए मैच को आखिरी दिन ड्रा कराने में कामयाबी हसिल की। भारत ने न्यूजीलैंड के सामने चौथे दिन 234 रन पर पारी घोषित कर 284 रन का लक्ष्य रखा था। पांचवें दिन कीवी टीम ने 9 विकेट पर 165 रन बनाए और मैच को बचाया।भारतीय टीम इस मैच में जीत के करीब पहुंचने के बाद भी मायूस रही। भारतीय गेंदबाजों ने 9 विकेट हासिल कर लिए थे लेकिन आखिरी विकेट नहीं चटका पाई। पहली पारी में भारत ने 345 रन बनाए थे जबकि दूसरी पारी में 7 विकेट पर 234 रन बना पारी घोषित की थी। न्यूजीलैंड की टीम पहली पारी 296 रन पर सिमट गई थी जबकि दूसरी पारी में 9 विकेट पर 165 रन बनाया।

इस मैच को ड्रॉ कराने का श्रेय कीवी टीम के टॉप ऑर्डर को भी जाता है, जिन्होंने भारत को काफी लंबे समय तक विकेट के लिए तरसाया. मैच के चौथे दिन भारत को शुरुआत में ही पहली सफलता मिल गई थी. लेकिन नाइट वॉचमैन के रूप में बैटिंग पर उतरे विलियमस सोमरविले (36) ने मैच के 5वें दिन भारतीय गेंदबाजों को विकेट के लिए एक सत्र तक तरसाए रखा. दिन के पहले सत्र में भारत को कोई नई कामयाबी नहीं मिली थी. लंच के बाद सोमरविले (36) को उमेश यादव ने आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई.

साल 1978 में वेस्टइंडीज ने इसी तरह कोलकाता में टीम इंडिया से जीत छीनी थी. भारत ने 197 रन पर वेस्टइंडीज के 9 विकेट गिरा दिए थे लेकिन वो अंतिम विकेट नहीं ले पाया. सिल्वेस्टर क्लार्क और स्यू शिवनारायण की जोड़ी खेल खत्म होने तक विकेट पर डटी रही. साल 2006 में सेंट जॉन्स टेस्ट मैच में भी ऐसा ही हुआ था. उस वक्त भी वेस्टइंडीज की अंतिम जोड़ी टेस्ट मैच बचा गई थी. 392 रनों के लक्ष्य के जवाब में वेस्टइंडीज ने 292 रनों पर 9 विकेट गंवा दिए थे लेकिन अंतिम विकेट के लिए फिडेल एडवर्ड्स और कॉरी कॉलीमोर विकेट पर डट गए. दोनों बल्लेबाजों ने 19 गेंद खेली और फिर मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ. फिडेल एडवर्ड्स ने 36 गेंदों पर नाबाद 1 रन बनाया.

Next Story