SP करवा चौथ पर बोरवेल में गिरे बच्चे को बचाने जुटी रहीं, IPS पति ने रेस्क्यू साइट पर व्रत खुलवाया…..व्रत के बाद पति ने लिखा ऐसा इमोशनल पोस्ट….खुद मुख्यमंत्री भी हो गये मुरीद .. पढ़िये

निवाड़ी 7 नवंबर 2020। करवा चौथ पर सुहागीनें अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं और पूजा-अर्चना करती है, लेकिन करवा चौथ पर महिला IPS ने जो कुछ किया, उसका पूरा देश मुरीद बन गया है। दरअसल. मध्य प्रदेश के निवाड़ी की एसपी वाहिनी सिंह ने भी करवा चौथ पर अपने आईपीएस  पति नागेन्द्र सिंह के लिए व्रत रखा, लेकिन त्यौहार पर घर में बैठने से ज्यादा फर्ज को अहमियत दी और निवाड़ी के ओरछा में बोरवेल में गिरे मासूम प्रहलाद को बचाने के लिए निकल गई. उनके इस जज्बे को आईपीएस पति  ने सलाम किया है. साथ ही सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर वाहिनी सिंह की जमकर तारीफ भी की है। यही नहीं खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस एसपी की तारीफ की है।

व्रत वाले दिन एसपी वाहिनी सिंह  ने निभाया फर्ज

निवाड़ी एसपी वाहिनी सिंह के आईपीएस पति नगेन्द्र सिंह ने फेसबुक पोस्ट पर  लिखा ‘’कल करवा चौथ था और मेरा जन्मदिन भी, बड़े दिनों के बाद मुश्किल से छुट्टी लेकर पुलिसिया शोर से दूर अपनी भार्या को समय देने आया था. पर नियति कहां सुनती है, सुबह-सुबह सूचना लगी कि एक मासूम पृथ्वीपुर में बोरवेल में 200 फीट नीचे चला गया, फिर क्या था श्रीमती जी तत्काल वर्दी डाल बिना कुछ सोचे लग गई उस मासूम के लिए.सेना बुलायी गयी, आपदा राहत बल भी आ गया पर कप्तान साहिबा लगातार लगी रही’’

IPS पति ने की पत्नी की तारीफ

आईपीएस पति नगेन्द्र सिंह ने अपने पोस्ट में पत्नी की तारीफ करते हुए आगे लिखा कि पिछले 32 घंटों से बचाव कार्य लगातार जारी है, हम सब उस मासूम के जीवन के लिए प्रार्थना कर रहे हैं परंतु इस सब के बीच याद ही नहीं रहा कि पत्नी ने करवा चौथ का व्रत रखा है, कई बार कहा कि आज व्रत मत करो पर मेरी एक ना सुनी गई I  जब याद आया तो रात के 9 बजने को थे, आनन फानन में सड़क किनारे उनका व्रत चांद दिखा कर बोतल से पानी पिला कर खुलवाया, मिन्नतें कर के कुछ खाना खिलाया और वो फिर लग गई अपने काम में. शायद ही किसी संस्कृति में ऐसा देखने को मिलता है कि एक स्त्री इतने कठोर नियमों का पालन करती हो, परंतु नारी यदि ठान ले तो क्या नहीं कर सकती. किस्सा छोटा सा है पर बात बहुत बड़ी है. मैं उन सभी नारियों को कोटि कोटि नमन करता हू जो अपने कर्तव्य के प्रति कृत संकल्प हैं.

आपको बता दें कि बुधवार को प्रहलाद घर में खेलते-खेलते बगल के अपने खेत में चला गया था. इस दौरान वह अचानक बोरवेल में चला गया. परिजनों को जब जानकारी हुई तो उन्होंने सबसे पहले पुलिस को इसकी सूचना दी. इसके बाद मौके पर प्रशासनिक टीम भी पहुंच गई. प्रहलाद के रेस्क्यू के लिए कल ही सेना की दो सदस्यीय टीम बुला ली गई थी.

सीएम शिवराज ने सलामती के लिए सबसे दुआ का अपील की थी. वहीं,  पूर्व सीएम कमलनाथ ने सीएम शिवराज से उसे बचाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाने की अपील की थी.

Spread the love