दुर्गम बस्तर में मोबाइल संपर्क की सारथी बनी सौर ऊर्जा, अब बच्चों को ऑनलाइन पढ़ने में नही होगी दिक्कत…..क्रेडा, बीएसएनएल व जिला प्रशासन की पहल

रायपुर, 9 सितंबर 2020।। अबूझमाड़ और बस्तर के दुर्गम अंचल में मोबाइल कनेक्टिविटी के माध्यम से संपर्क का नया दौर शुरू हुआ है। यह मोबाइल टॉवर छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास प्राधिकरण के द्वारा स्थापित नये सौर ऊर्जा संयंत्र से संचालित हुआ है।
ओरछा में मोबाइल टाॅवर की स्थापना बीएसएनएल, जिला प्रशासन नारायणपुर व क्रेडा के सहयोग से विकासखंड मुख्यालय ओरछा में की गई है। अंचल के इस प्रथम और अभी तक के एक मात्र बी.एस.एन.एल. टाॅवर को क्रेडा के द्वारा स्थापित 15 किलोवाॅट क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र के माध्यम से संचालित कर दिया गया है। क्रेडा द्वारा बस्तर संभाग में इस तरह का पहला सौर संयंत्र स्थापित किया गया है जिसमें एकल बी.टी.एस. टाॅवर को सौर ऊर्जा से पूर्णतया डी.सी. विद्युत प्रणाली के माध्यम से संचालित किया जा रहा है। संयंत्र में 48-48 वोल्टेज 1000 AH के दो बैटरी बैंक सपोर्ट भी है जो कि मास्टर को भी फायदा पहुंचेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना काल में जनसुविधाओं को जारी रखने के लिए ऑनलाइन सेवाओं का दायरा और गुणवत्ता बढ़ाने की पुरजोर पहल की गई थी। विभिन्न जनहितकारी सेवाओं के साथ ही पढ़ाई तुहंर दुआर के माध्यम से 22लाख बच्चों और 2 लाख से अधिक शिक्षक-शिक्षिकाओं को जोड़ा गया है ।अब 24 घंटे नेटवर्क सुलभ होने से छात्र-छात्राएं आनलाइन कक्षा का भी सतत् लाभ प्राप्त कर सकेंगे। शासकीय कार्यालयों, स्वास्थ्य केन्द्र, बैंक, पुलिस थाना, बेस कैंप, आश्रम-छात्रावासों, स्कूलों व अन्य संस्थाओं में भी अब 24 घंटे नेट कनेक्टीविटी की उपलब्धता बनी रहेगी। किसानों , युवाओं तथा विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को भी को भी इस नयी सुविधा का लाभ मिलेगा।

Spread the love

Get real time updates directly on you device, subscribe now.