…तो क्या कमलनाथ इस्तीफा दे देंग ?….राज्यपाल से मिलने पहुंचे हैं मुख्यमंत्री कमलनाथ…….देर शाम राज्यपाल की लिखी तल्ख चिट्ठी का जवाब देंगे या फिर इस्तीफा ?… चर्चा पूरजोर….

भोपाल 16 मार्च 2020। मध्यप्रदेश की सियासत में एक बार फिर तेज हलचल शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ राज्यपाल से मिलने पहुंचे हैं। पूरजोर चर्चा है कि मध्यप्रदेश की सियासत में कुछ बड़ा होने वाला है। …हालांकि वो बड़ा क्या होगा…क्या वो राज्यपाल के लिखे पत्र का जवाब देने के लिए जा रहे हैं..या फिर वो इस्तीफा दे देंगे ?…हालांकि इस्तीफे को लेकर गुंजाईश कम दिख रहा है…लेकिन इतनी रात में राजभवन पहुंचना एक बड़े इशारे कर रहा है।

इससे पहले राज्यपाल लालजी टंडन ने कड़ा पत्र लिखकर मुख्यमंत्री को निर्देश दिया था कि वो 17 मार्च अपना बहुमत साबित करें… अगर वो बहुमत साबित नहीं करते हैं, तो ये माना जायेगा, कि उनकी सरकार अल्पमत में है। इससे पहले फ्लोर टेस्ट का निर्देश मुख्यमंत्री को राज्यपाल ने आज राज्यपाल के अभिभाषण के बाद दिया था, लेकिन फ्लोर टेस्ट कराने के बजाय विधानसभा को 25 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

जिन 22 विधायकों ने मुख्यमंत्री को इस्तीफे सौंपे हैं अगर स्पीकर भी उनका इस्तीफा स्वीकार करते हैं तो उन विधायकों की सदस्यता चली जाएगी और ऐसे में सरकार में 99 विधायक रह जाएँगे। फिलहाल स्पीकर ने 6 मंत्रियों के इस्तीफे स्वीकार किए हैं इसलिए सरकार में 115 विधायक हैं। सभी के इस्तीफे स्वीकार होने पर विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 104 पर आ जाएगा। ऐसे में बीजेपी विप जारी करके फ्लोर टेस्ट में बाजी मार सकती है।

विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले रविवार को राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखकर सोमवार को फ्लोर टेस्ट कराने का निर्देश दिया था। पत्र मिलते ही कमलनाथ देर रात राजभवन उनसे मिलने भी गए थे। सोमवार विधानसभा से राज्यपाल के जाने के बाद पहले दस मिनट के लिए कार्यवाही स्थगित की गई, उसके बाद 26 तारीख तक के लिए सत्र को टाल दिया गया।

Spread the love